जैसा कि आप सभी जानते हैं ये समय बोर्ड रिजल्ट का चल रहा है और जिन छात्रों ने इस साल बोर्ड की परीक्षाएं दी हैं वे अपने परिणाम को देखने का बेसब्री से इतंजार कर रहे हैं। लेकिन शायद अब बिहार बोर्ड परिणाम आने में कुछ मुश्किल हो सकती है। ये खबर उन छात्रों के लिए अच्छी खबर नहीं हैं जो इस साल बिहार बोर्ड परीक्षाओं में शामिल हुए थे। अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा क्या हुआ है कि बिहार बोर्ड परिणाम 2018 में देरी हो सकती है। आपको बता दें कि बिहार बोर्ड के उच्च माध्यमिक प्रभाग के परीक्षा नियंत्रक रामाशंकर सिंह ने इस्तीफा दे दिया है। जी हां आपको बता दें कि इनके इस्तीफे से बिहार बोर्ड रिजल्ट को लेकर परेशानी बढ़ गयी है। चूंकि परीक्षा नियंत्रक की भूमिका परीक्षा से लेकर रिजल्ट तक में होती है।

साथ ही आपको ये भी बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि बोर्ड में अचानक से परीक्षा नियंत्रक ने पहली बार इस्तीफा दिया हो। जी हां आपको बता दें कि दो साल के अंदर ही उच्च माध्यमिक में दो और माध्यमिक में भी दो परीक्षा नियंत्रक इस्तीफा दे चुके हैं। और इस बार भी यही हुआ लेकिन बोर्ड ने भी तुरंत उच्च माध्यमिक प्रभाग के संयुक्त सचिव योगेश मिश्र को अतिरिक्त परीक्षा नियंत्रक की जिम्मेदारी दे दी है। अगर हम बोर्ड की 2017 और 2018 की इंटर परीक्षा की बात करें तो परीक्षा व रिजल्ट के समय अलग-अलग परीक्षा नियंत्रक थे। जिसका असर इंटर के परिणाम पर भी देखा जाता है। साल 2017 में यूके चौबे इंटर रिजल्ट के समय परीक्षा नियंत्रक थे।

आपको ये भी बता दें कि इंटर और मैट्रिक परीक्षा से संबंधित सारी गोपनीय चीजें परीक्षा नियंत्रक की देखरेख में ही होती हैं। परीक्षा नियंत्रक पर ही रिजल्ट की सारी गतिविधियों की जिम्मेवारी होती है। तो जाहिर सी बात है कि ऐसे में परीक्षा नियंत्रक के छोड़ने के बाद से रिजल्ट के काम पर असर पड़ेगा ही और इसके साथ ही बिहार बोर्ड की गोपनीयता पर भी पड़ रहा है।

यहाँ से देखें अपना बिहार बोर्ड रिजल्ट 2018

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here