आपकी सीबीएसई बोर्ड परीक्षा बहुत पास आ गई हैं। और आपने उसके लिए तैयारी भी शुरू कर दी होगी। आप सीबीएसई कक्षा 10 समय सारणी यहां से देख सकते हैं। आज के हमारे इस आर्टिकल में आपको विज्ञान के पेपर के बारे में बताया जाएगा। क्योंकि विज्ञान एक ऐसा विषय है जो सबके लिए आसान नहीं होता है। कोई छात्र जहां ये सोचते हैं कि मैं विज्ञान में अच्छे नंबर कैसे लाऊं तो वहीं कोई ये सोचते हैं कि वे विज्ञान में पास कैसें हों तो आइए आपको बताते हैं कि इस बार आपको अपने विज्ञान के पेपर के लिए कैसे तैयारी करनी है। और बताते हैं कि सीबीएसई कक्षा 10 पेपर पैर्टन क्या है।

सीबीएसई बोर्ड एग्जाम की तैयारी कैंसे करें

विज्ञान के पेपर में दो सेक्शन, सेक्शन ए और सेक्शन बी होता हैं। सेक्शन ए में थ्योरी बेसड सबाल होते हैं। और सेक्शन बी में प्रैक्टिकल से जुडे सबाल होते हैं। विज्ञान प्रश्न पत्र में कुल 2 प्रश्न (1 अंक प्रश्न), 3 (2 अंक प्रश्न), 10 (3 अंक प्रश्न) और 6 (5 अंक प्रश्न) के साथ 27 प्रश्न होंगे। एक आंतरिक विकल्प तीन अंकों के तीन प्रश्नों में, प्रत्येक 5 अंक के दो प्रश्नों में और दो अंकों के एक प्रश्न में प्रदान किया जाएगा। व्यावहारिक आधारित प्रश्नों से 12 अंक दिए जाएंगे। यह परीक्षा 80 अंकों के लिए होगी और आपको प्रदान किए गए समय 3 घंटे होंगे। 1 मार्क प्रश्न को एक वाक्य में उत्तर देने की आवश्यकता है। 2 अंकों के प्रश्न के लिए, आपका जवाब आदर्श रूप से 30 शब्दों का होना चाहिए। 3 अंकों के सवाल के बारे में 50 शब्दों और 5 अंकों के प्रश्नों में लंबे उत्तर के प्रकार की तरह उत्तर देने की आवश्यकता है। इसके बारे में 70 शब्दों में जवाब देने की आवश्यकता है। सैंपल पेपर के लिए यहां देंखे

सेक्शन ए के लिए ऐसे करें तैयारी

अगर हम सेक्शन ए की बात करें तो ये पूरे 68 नंबर का होता है। इसमें पहला भाग भौतिकी है जो 29 अंकों के लिए होगा। कुल 18 अंकों के लिए अध्याय प्रतिबिंब और रोशनी के अपवर्तन से पूछा जाएगा। तो सुनिश्चित करें कि आप सभी आरेख और प्रतिबिंब और अपवर्तन के नियमों का बहुत अच्छी तरह से अभ्यास कर लें। संख्यात्मक अनुभाग के लिए, लेंस सूत्र, दर्पण सूत्र और आवर्धन पर अभ्यास करें। अध्याय मानव आंख से, आप कुल 11 अंकों के लिए प्रश्नों की अपेक्षा कर सकते हैं।

अगला कैमिस्ट्री खंड है जो 23 अंकों के लिए होगा। आपको बता दें कि अध्याय कार्बन और उसके यौगिकों में 18 अंकों का आता है। कार्बन और यौगिकों से, सुनिश्चित करें कि आप कार्बन और अन्य घटनाओं, एथनॉल और एथोनिक एसिड की प्रकृति को अच्छे से पढ़ें। यह वास्तव में एक महत्वपूर्ण विषय है, इस विषय से कम से कम एक सवाल जरूर आता है। इसके बाद फिर साबुन और डिटर्जेंट, सैपोनिफिकेशन और साबुन को शुद्ध करना इनका आपको अध्ययन करने की आवश्यकता है। तत्वों के आवधिक वर्गीकरण जरूर पढ़ें। इसमें से 7 मार्क्स का पूछा जाएगा, आपको डोबरेनर, न्यूलैंड और मैडेलीव आवधिक तालिका की मान्यताओं, उपलब्धियों और सीमाओं का अध्ययन करने की जरूरत है और आधुनिक आवधिक तालिका का सर्वोत्तम विकल्प है।

जीव विज्ञान से 30 अंकों का आता है। 15 अंक प्रजनन अध्याय (रिप्रोडक्शन) और 15 को आनुवंशिकता और विकास के लिए आवंटित किए गए हैं। अध्याय, प्रजनन से, उनके चित्रों के साथ सभी 5 प्रकार के अलैंगिक प्रजनन का अध्ययन करें। यौन प्रजनन के लिए, पुरुष और महिला प्रजनन प्रणाली और फूलों की संरचना का चित्र बनाना सीखें। आनुवंशिकता और विकास से, चार से पांच विषय हैं जो वास्तव में महत्वपूर्ण हैं और ये हैं:

  • मेंडल का प्रयोग
  • सेक्स निर्धारण
  • रक्त समूह
  • विकास को प्रभावित करने वाले कारक
  • होमलोगुस और समान अंग

आखिरी खंड पर चलते हैं। जो प्राकृतिक घटना है, जो 8 नंबर के लिए पूछा जाएगा। प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन अध्याय से 5 नंबर का एक लोंग सवाल आएगा। एक नबंर के छोटे उत्तर प्रकार प्रश्न जीवाश्म ईंधन और हमारे पर्यावरण प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंधन से, आएंगे। प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंधन से, 3 R’s , विकास और कोयला पेट्रोलियम का अच्छी तरह से अध्ययन करें।

अलैंगिक प्रजनन के 5 तरीके, नर और मादा प्रजनन प्रणाली जैसे कि हमने पहले चर्चा की थी, फूलों की संरचना, सभी रे आरेख और हाइड्रोकार्बन की संरचना बनाना साखें।

सेक्शन बी के लिए ऐसे करें तैयारी

जैसे कि आपको पता है कि सेक्शन बी में प्रैक्टिकल से जुडे सबाल पूछे जाते है। जब भी आप मैनुअल से प्रैक्टिकल की प्रैक्टिस करें। तब आप प्रैक्टिकल से जुडी सभी बेसिक जानकारी प्राप्त कर लें। जैसी की अाप कौन सी डिवाइस यूज़ कर रहे हैं, कौन सा मटेरियल यूज़ कर रहे हैं, प्रैक्टिकल की हैडिंग क्या है आपको इन सब बातों को ध्यान रखना होगा।

कुछ सामान्य टिप्स

इतिहास खुद को दोहराता है और इसलिए सवाल करते हैं, इसलिए पिछले कुछ वर्षों में पूछे गए प्रश्नों का अभ्यास करें और बार-बार पूछे गए प्रश्नों का विश्लेषण करें। अपने मानक एनसीईआरटी को न भूलें और एक पुनश्चर्या के रूप में एस चंद पढ़ें।सभी इंटेक्स और एनसीईआरटी के वैचारिक और संख्यात्मक अभ्यास करें क्योंकि वे सभी प्रकार की समस्याओं को कवर करते हैं। महत्वपूर्ण अवधारणाओं, आरेखों और सूत्रों के लिए एक अलग नोटबुक तैयार करें ताकि आप उन्हें अंतिम मिनट का पढ़ सकें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here