जो उम्मीदवार इस बार दिल्ली विश्वविद्यालय 2018 में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में दाखिले लेना चाहते हैं उनको बता दें कि डीयू में इस सत्र से पीजी में दाखिले के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा कराने की तैयारी चल रही है। है। आपको बता दें कि सूत्रों के मुताबिक सत्र 2018-19 के लिए डीयू पीजी के 50 से अधिक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा कराएगा।

डीयू में एडमिशन सत्र 2017-18 में पीजी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए भी ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा का प्रस्ताव रखा था। लेकिन छात्र संगठन एबीवीपी और डीयू छात्रसंघ के लगातार इसके खिलाफ विरोध किया जिस कारण इसे लागू करने का फैसला वापस ही लेना पड़ा था। एबीवीपी के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक साकेत बहुगुणा का कहना है कि छात्रों की राय के बिना इतना बड़ा फैसला नहीं लिया जाना चाहिए।

साकेत के अनुसार बिना किसी तैयारी के डीयू प्रशासन को इस फैसले को लागू करने के बारे में विचार नहीं करना चाहिए। इस कारण बहुत ऐसे इलाके के छात्र डीयू में दाखिला नहीं ले पाते हैं जिन्हें कंप्यूटर की बेहद कम समझ है। दिल्ली यूनिवर्सिटी दाखिला करने के लिए एक बार फिर से पिछले साल की तरह ही इस बार भी ऑनलाइन प्रक्रिया करा सकता है। दरअसल, पिछले वर्ष दिल्ली विश्वविद्यालय ने छात्रों को ऑनलाइन परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा से पहले ऑनलाइन प्रशिक्षण का प्रस्ताव भी रखा था ताकि छात्रों को कोई भी दिक्कत न आए।

छात्र संगठन एनएसयूआई के दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष अक्षय लाखड़ा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी प्रवेश 2018 का ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा कराने का कदम स्वागत योग्य बताया। उन्होंने कहा कि ये कदम डिजिटलीकरण को बढ़ावा देगा। और इससे परीक्षा आयोजित करने में लगने वाले खर्च में भी कमी आएगी। ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा के लिए डीयू को छात्रों को ध्यान में रखना चाहिए जिससे उन्हें किसी भी तरीके की तकनीकी खामी या अन्य परेशानी नहीं हो।

उन्होंने कहा कि ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आयोजित होगी तो खर्च भी बचेगा जिस कारण छात्रों की परीक्षा फीस भी डी यू यूनिवर्सिटी को कम करनी चाहिए। राजेश झा जो कि कार्यकारी परिषद के सदस्य हैं उन्होंने कहा है कि ऑनलाइन परीक्षा देने में गरीब परिवार के लोगों को  दिक्कत आ सकती है। छात्रों से बात करने के बाद ही दिल्ली विश्वविद्यालय को यह फैसला लेना चाहिए।

Leave a Reply