जो उम्मीदवार सहकारी बैंकों में भर्ती देख रहें हैं उनको बता दें कि आईबीपीएस (IBPS) अब सहकारी बैंकों में भर्ती करेगी। प्रदेश में सहकारी बैंकों में अब भर्तियां इंस्टीटयूट अॉफ बैंकिंग पर्सनल सेलेक्शन (आईबीपीएस) करेगी। यूपी सरकार यानी कि  योगी आदित्यनाथ सरकार ने सहकारी बैंकों की पिछली भर्तियों से जुडी शिकायतों की वजह से ये फैसला लिया है। और अब संस्थागत सेवा मंडल से भरर्तियों का अधिकार छीन लिया गया है। हालांकि पदोन्नति व रेगुलराइजेशन जैसे काम अभी भी संस्थागत सेवा मंडल ही करेगा। लेकिन भर्ती नहीं करेगा।

आईबीपीएस अब प्रदेश में सहकारी बैंकों में करेगी भर्तियां 

शासन के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि यूपी सहकारी संस्थागत सेवा मंडल सहकारी बैंकों से जुडी भर्तियां कराता रहा है। और संस्थागत सेवा मंडल की भर्तियाों पर पहले सवाल उठाए जाते रहें हैं। इस संबंध में सीएम ने रिपोर्ट भी मांगी थी। सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने बताया है कि मुख्यमंत्री के पास भविष्य में भर्तीयों से जुडी कार्यवाही के लिए दो तरह के प्रस्ताव भेजे गए थे। एक भर्तियों में पारदर्शिता के उपाय करते हुए भर्ती का काम संस्थागत सेवा मंडल के पास बनाए रखा जाए।

संस्थागत सेवा मंडल नियुक्ति, नियमित करने, पदोन्नति देने और स्थानांतरण जैसे कार्य करेगा।

इसमें परीक्षार्थियों को कार्वन कॉपी देने और परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरा लगाने सहित कई उपाए शामिल है। दूसरा, सीबीआई सहित विभिन्न बैंकों की भर्ती करने वाली संस्था आईबीपीएस को सौंप दें। जो छात्र आईबीपीएस भर्ती देख रहे हैं उनको बता दें कि सहकारिता मंत्री सीएम ने सहकारी बैंकों में भर्ती से जुडी परीक्षाओं की जिम्मेदारी आईबीपीएस को सौंपने की सहमति दे दी है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया है कि संस्थागत सेवा मंडल भर्तियों के अलावा बाकी का काम पहले की तरह करता रहेगा। जैसे कि नियुक्ति, नियमित करने, पदोन्नति देने और स्थानांतरण जैसे कार्य संस्थागत सेवा मंडल करेगा।

Leave a Reply