जिन छात्रों ने इस साल यानि कि साल 2018 में यूपी बोर्ड की 10 वीं परीक्षा और यूपी बोर्ड की 12 वीं परीक्षा दी हैं। और अब वे छात्र अपने यूपी बोर्ड रिजल्ट 2018 का इंतजार कर रहे हैं उनको बता दें कि अब यूपी बोर्ड की कक्षा 10 की और कक्षा 12 की कॉपी मूल्यांकन का समय दो घंटे और बढा़ दिया गया है। जी हां आपको बता दें कि मंगलवार को सचिव नीना श्रीवास्तव ने सभी शिक्षा निदेशकों को एक पत्र जारी किया। इस पत्र में है कि सुबह 10 बजे की बजाय 9 और शाम को 5 बजे के बजाय 6 बजे तक कॉपेयों का मूल्यांकन कराया जाए।

यूपी बोर्ड की कॉपी मूल्यांकन का समय दो घंटे और बढा़

जैसा कि आपको पता होगा कि इस साल यानि कि साल 2018 में यूपी बोर्ड कक्षा 10 वीं की परिक्षाएं 6 फरवरी 2018 से शुरू हो गई थीं और 22 फरवरी 2018 तक चलीं थी। और यूपी बोर्ड कक्षा 12 वीं की परीक्षाएं 6 फरवरी 2018 से शुरू हो गई थी। और 12 मार्च 2018 तक चली हैं। तो जिन छात्रों ने परिक्षाएं दी थी वे अपने परिणाम का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। यूपी बोर्ड की कॉपी का मूल्यांकन शुरू हो गया है। आपको बता दें कि चौथे दिन भी कॉपी मूल्यांकन के लिए 50 फीसदी से भी कम परीक्षक पहुंचे थे। यूपी बोर्ड कॉपी मूल्यांकन के लिए चौथे दिन यानि कि मंगलवार को 6465 परीक्षकों में से सिर्फ 3034 परीक्षक जबकि 654 उप प्रधान परीक्षकों में से सिर्फ 554 परीक्षकों ने रिपोर्ट किया।

यूपी बोर्ड कॉपी मूल्यांकन के लिए 50 फीसदी से भी कम परीक्षक पहुंचे

साथ ही आपको ये भी बता दें कि एक सूचना के मुताबिक अभी तक लगभग 158484 कॉपियां जांची गई हैं। आपको ये भी बता दें कि ये कॉपियां कहां कहां जांची गई हैं। जीआईसी में 21825 कॉपियां, सीएवी में 18430 कॉपियां, जीजीआईसी में 26515 कॉपियां, जमुना क्रिश्चियन में 24270 कॉपियां, क्रास्थवेट में 21099 कॉपियां, केसर विद्यापीठ में 8055 कॉपियां, भारत स्काउट में 3600 कॉपियां, जगत तारन में 11200 कॉपियां और अग्रसेन इंटर कॉलेज में 23500 कॉपियां जांचीं गईं हैं।

Leave a Reply