बिहार बोर्ड ने 10वीं का कंपार्टमेंट रिजल्ट जारी कर दिया हैं। आपको बता दें कि कंपार्टमेंट रिजल्ट में भी लड़कियों ने बाजी जीत ली हैं। कुल 26.63% छात्र पास हुए हैं जिसमें से 15.7% लड़कियां पास हुई हैं तो वही 10.9% लड़के पास हुए हैं। बिहार बोर्ड ने कल रिजल्ट घोषित किया हैं। इस साल कुल 2,16,455 छात्रों ने कंपार्टमेंट की परीक्षा दी हैं, जिसमें से 1,56,030 छात्र कंपार्टमेंट परीक्षा में फिर से फेल हो गए। फेल हुए छात्रों में 1,01,693 लड़कियों हैं और 54,337 लड़के फेल हुए हैं। गौर करने वाली बात यह है की पिछले साल की तुलना में इस साल के पास हुए छात्रों की संख्या में भारी गिरावट देखने को मिली हैं। 2017 में कुल 64.53% छात्र कंपार्टमेंट में पास हुए थे जबकी इस साल र्सिफ 26.63% छात्र पास हो पाए हैं। आपको यह भी बता दें की 2,334 छात्रों के रिजल्ट अभी भी किसी कारण की वजह से रुके हुए हैं।

बिहार बोर्ड 10वीं कंपार्टमेंट रिजल्ट में लड़कियों ने मारी बाजी

जो छात्र कंपार्टमेंट में पास हो गए हैं वो छात्र अब 11वीं में दाखिला लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं। उसके लिए छात्रों को ओएफएसएस पर 5 सितंबर 2018 से 8 सितंबर 2018 तक रजिस्टर करना होगा। जिसके बाद 13 सितंबर 2018 को तीसरी मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी और दाखिले की प्रक्रिया 14 सितंबर 2018 से लेकर 18 सितंबर 2018 के बीच शुरु कर दी जाएगी। इस तरह बाकी के छात्र भी दाखिला ले पांएगे। इस साल कुल 68.89% छात्र पास हुए थे और जो छात्र पास नहीं हो पाए थे उनको दुबारा परीक्षा देने का मौका दिया गया था। जिसका लाभ कुछ छात्रों ने जरुर उठाया हैं।

बिहार बोर्ड 10वीं के कंपार्टमेंट रिजल्ट को देखकर हम यह अनुमान लगा सकते हैं की बिहार में शिक्षा का कैसा स्तर हैं। साथ ही पास हुए छात्रों के आंकड़े यह साफ दिखाते हैं की इस साल शिक्षा का हाल पिछले साल के मुताबिक और भी ज्यादा खराब हो गया हैं। 2018 में जितने छात्रों ने कंपार्टमेंट की परीक्षा दी हैं उसमें से आधे छात्र भी कंपार्टमेंट की परीक्षा में पास नहीं हो पाए। यह आंकड़े देखे जाए तो काफी ज्यादा हैं, लेकिन देखने वाली बात यह होगी की क्या इन आंकड़ों से सरकार को शिक्षा की बदहाली दिखाई देता हैं या फिर बिहार सरकार इस मुद्दे को लेकर कोई नया बहाना बना देगी।

अपने विचार बताएं।