जिन छात्रों ने इस साल सानी कि साल 2018 में बिहार बोर्ड की परीक्षाएं दी हैं। वे अपने परिणाम की बेसवरी से इंतज़ार कर रहे है। लेकिन उनका ये इंतजार खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। बिहार बोर्ड रिजल्ट 2018 की तिथि आगे बड़ती ही जा रही है। लेकिन जल्द ही बिहार बोर्ड 2018 परिणाम आपके सामने होगा।आज हम आपको एक खुशखबरी देने वाले हैं। आपको बता दें कि ये खुशखबरी बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट के छात्रों के लिए है। बिहार इंटरमीडिएट रिजल्ट से पहले बिहार बोर्ड ने उन परीक्षार्थियों को ग्रेस अंक देने की नियमावली तय कर दी है, जिन्हे ग्रेस उंक की जरूरत है। साथ ही आपको बता दें कि इस बार छात्रों को ग्रेस अंक अधिकतम 10 फीसदी तक दिए जाएंगे। लेकिन आप ये भी जान ले कि अगर आप भाषा विषय में फेल होते हैं तो आपको कोई ग्रेस अंक नहीं मिलेगा।

इस बार मिलेंगे 10% ग्रेस मार्क्स

अगर हम बिहार बोर्ड की ओर से जारी नियमावली को देंखे तो उसके अनुसार अगर किसी छात्र का कुल प्राप्तांक 75 फीसदी है, लेकिन वो किसी एक विषय में फेल है तो उस बोर्ड उस छात्र को पास कराने के लिए अधिकतम 10 फीसदी तक का ग्रेस अंक देगा। ऐसा पहली बार हुआ कि बिहार बोर्ड ने अधिकतम 10 फीसदी ग्रेस देने का फैसला किया है। बिहार बोर्ड इससे पहले एक विषय में अधिकतम 8 फीसदी और दो विषय में 4-4 फीसदी तक ग्रेस देता था। बशर्ते ये है कि छात्र ने कोई और अन्य लाभ ना लिया हो। साथ ही बिहार बोर्ड ने ये भी स्पष्ट कर दिया है कि यह नियमावली नियमित छात्रों के लिए ही लागू होगा। इस नियम का फायदा पूर्ववर्ती छात्रों को नहीं मिलेगा।

कई दिनों से ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि इस साल यानी कि साल 2018 में बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट को लेकर काफी ऐहतियात बरत रहा है। ऐहतियात बरती जा रही है कि इस साल मेरिट लिस्ट में किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो। इसके लिए बोर्ड इस साल टॉप-100 छात्रों की सारे कागजातों की जांच करने की तैयारी में जुटा है। अगर बोर्ड सूत्रों की मानें तो मेरिट लिस्ट तैयार करने के पहले टॉप-100 में शामिल छात्रों की उत्तर पुस्तिकिओं की दुबारा जांच कराई जाएगी। आप अपना बिहार बोर्ड 12 वीं परिणाम 2018 यहां से भी देख सकते हैं।

यहां से देखें अपना बिहार बोर्ड कक्षा 12 का परिणाम।

Mody University Apply Now!!

अपने विचार बताएं।