आज की इस दौड़-भाग भरी ज़िंदगी में प्रत्येक व्यक्ति अपने आपको स्वस्थ तो रखना चाहता है, लेकिन व्यस्तता भरे माहौल में वह अपनी सेहत पर बिल्कुल ध्यान ही नहीं दे पाता। वह दिन-रात पैसा कमाने की जद्दोज़हद में लगा रहता है, जिसका नतीजा यह होता है कि वह अनेक घातक बीमारियों का शिकार हो जाता है। जितना पैसा वह अपनी पूरी ज़िंदगी में कमाता है वह सारा पैसा उसकी बीमारियों पर ख़र्च हो जाता है।

दोस्तों फिर क्यों न किसी ऐसे क्षेत्र में क़रियर बनाया जाए, जिसमें हमारी सेहत भी अच्छी बनी रहे और हमारी कमाई भी होती रहे। ऐसा ही एक विषय है योग…., जो आज लाखों युवाओं का पसंदीदा क़रियर विकल्प इसलिए बना हुआ है क्योंकि बतौर क़रियर इसे अपनाने पर आपको दोहरा लाभ होता है। पहला तो यह कि आपका स्वास्थ हमेशा फ़िट बना रहता है और दूसरा इससे जुड़कर आपकी आमदनी के नए द्वार भी खुल जाते हैं।

बढ़ती बीमारियों के कारण और योग के शरीर पर पड़ने वाले सकारात्मक परिणामों को देखते हुए अब लोगों में योग को जानने की उत्सुकता बढ़ती जा रही है। इसी का परिणाम है योग दिवस, जिसे भारत सहित पूरा विश्व मनाता है। विश्वभर में आज योग टीजर्स/योगा एक्सपर्ट्स की मांग दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। एसोचैम कि रिपोर्ट के मुताबिक़ वर्तमान में अकेले भारत में ही 3 लाख योग अध्यापकों की ज़रूरत है। योग करने वाले लोगों का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। आज योग पर नित नई रीसर्च हो रही हैं।

आज के समय में योग की महत्ता और लोकप्रियता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज लोग अपने शरीर को फिट रखने के लिए योग को वरीयता दे रहे हैं। वर्तमान में चीन में भारत के लगभग 3000 हजार योग शिक्षक योग का प्रशिक्षण दे रहे हैं। हम में से ऐसे कई युवा हैं जो इस क्षेत्र में करियर तो बनाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें इस विषय में पूरी जानकारी ही नहीं हैं। ऐसे युवाओं को अब निराश होने की ज़रूरत नहीं हैं, क्योंकि हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप एक सफल योग टीचर बनकर हर महीने लाखों की कमाई कर सकते हैं। आपको इस आर्टिकल में योग कोर्स की जानकारी मिलेगी।

कैसे बनाएं योग में करियर

12वीं पास कोई भी छात्र इस क्षेत्र में करियर बनाने का विचार कर सकता है। वर्तमान में ऐसे कई कॉलेज हैं जो योग में डिग्री, डिप्लोमा या सार्टीफिकेट कोर्सेज़ की पढ़ाई करा रहे हैं। योग में 3 साल की डिग्री के अलावा 1 साल या 6 माह के डिप्लोमा कोर्सेज़ तक उपलब्ध हैं। आप योग शिक्षक कोर्स, योग डिप्लोमा, डिप्लोमा इन योगा टीचर ट्रेनिंग, पीजी डिप्लोमा इन योगा आदि काफी कुछ कर सकते हैं। आप अपनी सहूलियत के हिसाब से इनका चयन कर सकते हैं। बैचलर ऑफ़ आर्ट्स(योग), मास्टर्स ऑफ आर्ट्स(योग), पीजी डिप्लोमा इन योग थेरेपी आदि कोर्सेज की आज काफी डिमांड है। अगर आप योग एक्सपर्ट या नैचुरोपैथ के तौर पर करियर बनाना चाहते हैं तो साढ़े पांच साल का बैचलर ऑफ नेचुरोपैथी या योगिक साइंसेज किया जा सकता है। इसके अलावा एडवांस योगा टीचर्स ट्रेनिंग कोर्स भी किया जा सकता है।

योग की डिग्री या डिप्लोमा कोर्स करने के बाद अब बारी आती है कि इस क्षेत्र में सेवाएं देने की। आपको बता दें कि योग शिक्षा लेने के बाद आप प्राइवेट/सरकारी किसी भी सेक्टर में जॉब पा सकते हो। इसके अलावा आप अपना निजी योग सेंटर भी खोल सकते हो। योग के क्षेत्र में कुछ अहम पद इस प्रकार हैं-

  • योगा इंस्ट्रक्टर
  • योगा थैरेपिस्ट
  • योगा एडवाइज़र
  • योगा स्पेशलिस्ट
  • योगा प्रैक्टीशनर
  • योग टीचर
  • रीसर्च अफसर- योगा एंड नैचुरोपैथी
  • योगा ऐरोबिक इंस्ट्रक्टर
  • योगा कंसल्टैंट
  • पब्लिकेशन अफसर(योगा)
  • योग मैनेजर

कहां-कहां हैं नौकरी के अवसर

योग में नौकरी के क्षेत्रों की आज कोई कमी नहीं हैं। सरकारी/प्राइवेट व निजी सेंटर खोलकर आप अच्छी कमाई कर सकते हो। उदाहरण के तौर पर…..

  • सरकारी/प्राइवेट स्कूल- सरकारी/प्राइवेट स्कूलों में योग टीचर्स की काफी डिमान्ड है। कई स्कूलों में तो योग टीचरों का होना आवश्यक कर दिया गया है। यह बदलाव धीरे-धीरे हर स्कूल में देखने को मिल रहा है।
  • अस्पताल– मरीज जल्दी ठीक हो सके इसके लिए अस्पतालों में उसे योग भी कराया जाता, जिसके लिए योग टीचर्स को हायर किया जाता है।
  • हेल्थ रिसॉर्ट, स्वास्थ्य केन्द्र– हेल्थ रिसॉर्ड और स्वास्थ्य केन्द्रों पर योग एक्सपर्ट्स विशेष रूप से रखे जाते हैं।
  • हाउसिंग सोसाइटियां-हाउसिंग सोसाइटियों में योग क्लासेज का चलन दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है।
  • कार्पोरेट घराने- बड़ी-बड़ी हस्तियां आज निजी तौर पर योग टीचर रखती हैं और उन्हें मोटी पगार देती हैं।
  • टेलीवीजन चैनल्स– टेलीवीजन के ज्यादातर चैनलों पर योग से संबंधित प्रोग्राम रोज सुबह प्रसारित किया जाता है।
  • निजी योग केन्द्र– निजी योग केन्द्र खोलकर आज युवा लाखों की कमाई कर रहे हैं।
इन संस्थानों से लिया जा सकता है योग में प्रशिक्षण

योग की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए देश विदेश के ज्यादातर स्कूल व कॉलेजों में योग को पाठ्यक्रम में शामिल किया जा रहा है। भारत में योग का कोर्सेज कराने वाले ज्यादातर संस्थान हरिद्वार व ऋषिकेश में हैं। इसलिए हरिद्वार को योग राजधानी भी कहा जाता है। योग में डिग्री या डिप्लोमा कोर्स कराने वाले प्रमुख संस्थान निम्नलिखित हैं….

  • मोरारजी देसाई नेशनल इस्टीट्यूट ऑफ योग, दिल्ली
  • भारतीय विद्या भवन, दिल्ली
  • देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार(उत्तराखंड)
  • गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार(उत्तराखंड)
  • अय्यंगर योग सेंटर, पुणे
  • कैवल्यधाम योग इंस्टीट्यूट, पुणे
  • बिहार स्कूल ऑफ योगा, मुंगेर
  • स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान, बेंगलुरू

आपको बता दें कि मोरारजी देसाई नेशनल इस्टीट्यूट ऑफ योग, दिल्ली  और बिहार स्कूल ऑफ योगा देश के प्रसिद्य योग संस्थान हैं, इनमें विदेशों से भी विद्यार्थी योग की शिक्षा ग्रहण करने के लिए आते हैं।

सैलरी

वैसे योग टीचर्स की सैलरी उनकी योग्यता, स्थान(ग्रामीण/शहरी), अनुभव व प्रसिद्धि पर ज्यादा निर्भर करती है, लेकिन शुरूआती तौर पर आप औसतन 10 हजार से 25 हजार की कमाई आसानी से कर सकते हैं। जैसे-जैसे इस फील्ड में अनुभव बढ़ता जाता है आपकी पग़ार और अवसर में इज़ाफ़ा होता रहता है। इसके अलावा विदेशों में आपको मोटे पैकेज पर हायर किया जा सकता है। योग में पी.एच.डी धारकों की सैलरी 1 लाख रुपये तक होती है। इसके अलावा आप योग पर किताबें लिखतर भी मोटा पैसा कमा सकते हैं।

इस क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक विद्यार्थी यह बिल्कुल न समझें कि खाली डिग्री या डिप्लोमा करने से ही आपकी कमाई होने लगेगी। आज के समय में वही विकता है जो अच्छा दिखता है। योग टीचर बनकर यदि आपको अच्छी कमाई करनी है तो डिग्री के साथ-साथ अपनी जिंदगी में अनुसाशन लाना होगा। ऐसा लगना चाहिए कि आप एक योग टीचर हो। कुल मिलाकर हमारे कहने का सीधा मतलब यह कि आप चाहे जिस भी क्षेत्र से जुड़े हुए हों, आपके व्यक्तित्व से उसका जुड़ाव नज़र आना चाहिए तभी आप उस क्षेत्र में सफल हो सकते हो।

अपने विचार बताएं।