सीबीएसई

स्कूली बच्चों में अपने बोर्ड परीक्षा को लेकर शुरुआत से काफी उत्सुकता रहती हैं। वह अक्सर अपने कोर्स और उनसे जुड़े सिलेबस को पूरा करने की जद्दोजहद में लगे रहते है। हर विद्यार्थी खुद की ज़िन्दगी सँवारने के लिए 10वीं और 12 वीं के इम्तिहान की महत्ता को समझता है।  खुद के पसंदीदा कोर्स को चुन कर छात्र कड़ी मेहनत के बावजूद इम्तिहान में सहमा-सहमा सा दिखता है। 2018 में 10 और 12 वीं कक्षा में दाखिल हुए छात्र अपने बोर्ड के इम्तिहान की तैयारी में जोर-शोर से भीड़ भी चुके है। ऐसे में 2018-19 बैच के बच्चों की उत्सुकता को सीबीएसई ने ख़त्म कर दिया है। 2019 में होने वाले बोर्ड के परीक्षा को लेकर सीबीएसई ने वोकेशनल विषयों की सूची जारी कर दी है। इन विषयों को 2019 के पाठ्यक्रम में जोड़ा गया है। सीबीएसई के द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार इन सब्जेक्स्ट की परीक्षा को 2019 के आखिरी फ़रवरी  में लिया जायेगा। जारी सूचना में सीबीएसई ने 2019 में होने वाले इम्तिहान के लिए दसवीं में 24 और बारहवीं की 42 विषयों को वोकेशनल सब्जेक्ट्स में जोड़ा है। इन सभी विषयों की परीक्षा की तारीख को फरवरी माह में रखने का ऐलान किया गया है जबकि सीबीएसई के ऑफिसियल साइट पर मुख्य विषयों की परीक्षा को मार्च के शुरूआती हफ्ते में होने की घोषणा की गई है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए सीबीएसई परीक्षाओं की डेटशीट, सीबीएसई रिजल्ट, पुनर्मूल्यांकन के परिणाम, कटऑफ की तारीखों को मद्देनज़र रखते हुए इस मामले में सीबीएसई को चेतावनी दी थी। 2019 में 10वीं और 12वीं की सीबीएसई परीक्षा फरवरी के तीसरे हफ्ते से शुरू होगी। दरअसल छात्रों को आगे की पढाई में दाखिला लेने में अड़चन बन रहती है। बोर्ड के रिजल्ट और परीक्षा से जुड़े मुद्दे पर हाई कोर्ट ने सीबीएसई को यह सलाह दी है ताकि छात्रों को आगे एडमिशन लेने में किसी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े। इस फैसले से छात्रों में ख़ुशी देखने को मिली। जिसके बाद दिल्ली हाई कोर्ट के निर्देश और छात्रों के हित में सीबीएसई के द्वारा डेटशीट में तबदीली का फैसला लिया गया है।

आपको बता दें, सीबीएसई के 10 वीं  और 12 वीं की परीक्षा प्रणाली में तबदीली करने पर विचार चल रहा है। ख़बरों के मुताबिक सीबीएसई 2020 तक परीक्षा पैटर्न में बदलाव कर सकती है। नए पैटर्न में स्टूडेंट्स के ज्ञान की तुलना में विश्लेषणात्मक क्षमता की परख पर जोर दिया जायेगा। यह कदम छात्रों की सोच को बढ़ावा देगा और उनपर रटने के बोझ को कम करेगा। सीबीएसई द्वारा पैटर्न में किया जा रहा बदलाव बच्चों पर सकारात्मक असर छोड़ सकता है और समाज से जुड़े ज्वलत मुद्दे पर अपनी विचार बनाने में काफी मदद करेगा। सीबीएसई परीक्षाओं और नियमों में हो रहे बदलाव से जुड़ी ताज़ा ख़बरों की जानकारी सीबीएसई की ऑफिसियल वेबसाइट www. cbse.nic.in पर आप चेक कर सकते हैं।

यहां से देखें लिस्ट।

अपने विचार बताएं।