सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने कक्षा 10 छात्रों के लिए अनिवार्य अलग-अलग पास चिन्ह मानदंडों को आराम देने का फैसला किया है। बोर्ड के एक अधिसूचना के मुताबिक, इसने विद्यार्थियों के इस बैच के लिए केवल 33% पास अंक मानदंड लागू करने का निर्णय लिया है। इस बैच के उम्मीदवारों के लिए बोर्ड ने पास के अंकों को संशोधित करने का निर्णय लिया है। पास के लिए नए विश्राम के अनुसार, छात्र को कुल 33% को सुरक्षित करना होगा। और सबसे खास बात तो ये है कि इनमें इंटरनल असेसमेंट मार्क्स भी शामिल होंगे। इसका मतलब ये है कि इंटरनल असेसमेंट के 20 नंबर और बोर्ड एग्जामिनेशन के 80 नंबर के हिसाब से कुल 100 अंकों की परीक्षा होगी। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि साबीएसई कक्षा 10 इस साल बोर्ड है।

सीबीएसई कक्षा 10 में अब सिर्फ छात्र को कुल 33% (आंतरिक और बोर्ड दोनों को एक साथ मिलकर) को सुरक्षित करना होगा

इससे इस साल परीक्षा में आने वाले छात्रों को राहत मिलेगी। यह आदर्श अतिरिक्त विषयों के लिए भी लागू है, जिसमें आंतरिक मूल्यांकन और बोर्ड परीक्षा शामिल है। 30 जनवरी 2017 को, सीबीएसई ने सात साल के बाद 2017-2018 के शैक्षिक सत्र से कक्षा 10 बोर्ड की परीक्षा बहाल करने की घोषणा की है। मंगलवार को एक अधिसूचना में कहा गया कि वर्तमान बैच, जिसने पांच प्रमुख विषयों को चुना है, को उन विषयों में अनिवार्य पृथक पास मानदंड से छूट दी जाएगी जिनके पास आंतरिक मूल्यांकन के लिए 20 अंक और बोर्ड परीक्षा में 80 अंक हैं। “उन्हें पारित करने के लिए 33% (दोनों को एकसाथ लिया गया) सुरक्षित करने की जरूरत है,”। लेकिन जो छात्र व्यावसायिक विषयों को पढ़ रहें हैं उनको बता दें कि व्यावसायिक विषयों के लिए आंतरिक मूल्यांकन में 50 अंक होते हैं, अलग-अलग पास मानदंडों का नियम यहां लागू नहीं होगा। ऐसे मामले में, छात्रों को पारित करने के लिए आंतरिक और बोर्ड परीक्षा दोनों में 33% अंक प्राप्त करना होगा।

व्यावसायिक विषयों के लिए छात्रों को आंतरिक और बोर्ड परीक्षा दोनों में 33% अंक प्राप्त करना होगा।

आपको बता दें कि यह नियम पांचों मुख्य विषयों के लिए लागू है। और अगर किसी विद्यार्थी ने अतिरिक्त विषय के तौर पर छठा या सातवां विषय ले रखा है, तो उन विषयों के पास होने का मानदंड भी अन्य पांचों विषयों की तरह ही होगा। आंतरिक मूल्यांकन और बोर्ड परीक्षा में अनिवार्य अलग पासिंग मानदंड, सीबीएस अधिसूचना के अनुबंध 1 (यहां से देंखे) में अधिसूचित विषयों के लिए आवेदन जारी रहेगा। लेकिन आपको ये भी बता दें कि भाषा 1 और 2 के लिए ये लागू नहीं होगा। इसके लिए परिक्षार्थी को आंतरिक और बोर्ड परीक्षा दोनों में 33% अंक प्राप्त करना होगा।

6 वें अतिरिक्त विषय के रूप में की जाने वाली भाषा के मामले में, अलग अनिवार्य पासिंग मानदंड लागू नहीं होंगे और उम्मीदवार को कुल 33% (दोनों को एक साथ मिलकर) को उस भाषा विषय में उत्तीर्ण करने में सक्षम होना चाहिए जो कि अतिरिक्त 6 वें विषय के रूप में पेश किया जाता है। अधिक जानकारी के लिए अधिसूचना यहां से देंखे

अपने विचार बताएं।