सीबीएसई कक्षा 10वीं विज्ञान परीक्षा पैर्टन और मार्किंग स्कीम

बोर्ड की परीक्षा जल्द ही आने वाली है। सीबीएसई बोर्ड परीक्षा हर साल भारी मात्रा में परीक्षा देते है। सीबीएसई ने यह बता दिया है कि बोर्ड परीक्षा फरवरी के तीसरे हफ्ते में शुरु होगी। जिसके लिए कुछ छात्रों को अभी से तैयारी शुरु कर दी होगी। अगर अभी भी आपने तैयारी शुरु नहीं की है तो अभी देर नहीं हुई है। छात्र अभी भी तैयारी शुरु कर सकते है। जिससे की आपका बोर्ड रिजल्ट अचछा आएगा। हर छात्र को किसी न किसी विषय को पढ़ने में दिक्कत आती है। उनमें से विज्ञान विषय एक ऐसा विषय में जिसमें ज्यादातर हर छात्र को परेशानी होती है। लेकिन आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है। क्योंकि अगलासेम पर आपको हर विषय को कैसे पढ़ना है यह बताया जाएगा। साथ ही कितने नंबर के कितने प्रश्न आएंगे यह भी बताया जाएगा। इस आर्टिकल में हम आपको 10वीं के विज्ञान विषय के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

सीबीएसई कक्षा 10वीं विज्ञान परीक्षा पैर्टन और मार्किंग स्कीम

विज्ञान के पेपर में दो सेक्शन आएंगे। सेक्शन ए और सेक्शन बी। सेक्शन ए में थ्योरी पर आधारित सवाल आएंगे। वही सेक्शन बी में प्रैक्टिकल पर आधारित सवाल आएंगे। सेक्शन के बाद अब जानते है कितने प्रश्न कितने नंबर के आएंगे। विज्ञान के पेपर में 2 प्रश्न 1 नंबर का, 3 प्रश्न 2 नंबर के, 10 प्रश्न 3 नबंर के। और 6 प्रश्न 5 नंबर के साथ कुल 27 प्रश्न होंगे। आपको किसी किसी प्रश्न में अॉपश्न भी दिए होंगे। 3 नंबर के तीन प्रश्न में अॉपश्न होगा। 5 नंबर के 2 प्रश्न में अॉपश्न होगा। और 2 नंबर के 1 प्रश्न में अॉपश्न होगा। व्यावहारिक आधारित प्रश्नों में 12 नंबर दिए जाएंगे। यह परीक्षा कुल 80 नंबर की होगी। जिसके लिए 3 घंटे का समय दिया जाएगा। 1 नंबर वाले प्रश्न में आप एक वाक्य में उत्तर दें। 2 नंबर प्रश्न में आप 30 शब्दों में उत्तर दें। 3 नंबर प्रश्न में आप 50 शब्द में उत्तर दें। वही 5 नंबर वाले प्रश्न में आप 70 शब्द तक उत्तर दें। आईए अब जानते है हर सेक्शन की तैयारी कैसे करें।

सीबीएसई कक्षा 10वीं मार्किंग स्कीम

चैप्टर नंबर चैप्टर का नाम अंक
1 रासायनिक पदार्थ – प्रकृति और व्यवहार 25
2 जीवित विषय की दुनिया 23
3 प्राकृतिक घटना 12
4 वर्तमान के प्रभाव 13
5 प्राकृतिक संसाधन 07
कुल 80
आंतरिक मूल्यांकन 20
कुल योग 100

सीबीएसई कक्षा 10वीं विज्ञान परीक्षा पैर्टन

  1. ज्ञान आधारित सरल सवाल – 10 अंक

    • 1 नंबर के 2 प्रश्न आएंगे।
    • 3 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
    • 5 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
  2. समझ – अर्थ से परिचित होना – 24 अंक

    • 2 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
    • 3 नंबर का 4 प्रश्न आएंगे।
    • 5 नंबर का 2 प्रश्न आएंगे।
  3. ठोस स्थिति में अमूर्त जानकारी का उपयोग करना – 18 अंक
    • 2 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
    • 3 नंबर का 2 प्रश्न आएंगे।
    • 5 नंबर का 2 प्रश्न आएंगे।
  4. उच्च आदेश सोच कौशल – 8 अंक
    • 3 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
    • 5 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
  5. आकस्मिक और मूल्यांकनत्मक – 8 अंक
    • 2 नंबर का 1 प्रश्न आएगा।
    • 3 नंबर का 2 प्रश्न आएंगे।

सेक्शन ए के लिए ऐसे करें तैयारी

सेक्शन ए सबसे ज्यादा नंबर का होता है। यह कुल 68 नंबर का सेक्शन आएगा। पहला भाग भौतिक का होगा। जो कुल 29 नंबर का होगा। इसमें आप आसानी से नंबर प्राप्त कर सकते है। छात्र सभी प्रश्नों को जरुर करें। क्योंकि कई बार र्सिफ प्रश्न का प्रयास करने से भी कुछ नंबर मिस जाते है। लेकिन ऐसा हमेशा नहीं होता है। इसलिए सभी छात्र भौतिक भाग को अच्छे से पढ़े। इसके सारे चैप्टर अच्छे से पढ़े क्योंकि अभी सारे चैप्टर पढ़ने का सही समय है।

दूसरा भाग कैमिस्ट्री का है। इसमें भी आप अच्छे से नंबर ला सकते है अगर आपको सारे सूत्र अच्छे से याद है। क्योंकि सूत्र पर ही आधारित अधिक्तर प्रश्न आएंगे। छात्रों को बता दें कि अध्याय कार्बन और उसके यौगिकों का विषय 18 नंबर का आता है। इसलिए छात्र इस विषय को अच्छे से पढ़े। ताकि इसे जुड़े बर प्रश्न का आप उत्तर दे सकें। इसके बाद आप साबुन और डिटर्जेंट को शुद्ध करने के बारे में आ सकता है।

अब बात करते है जीव विज्ञान विषय के बारे में, जो 30 नंबर का आएगा। इसमें 15 नंबर का रिप्रोडक्शन का टोपिक आएगा। और 15 नंबर का आनुवंशिकता और विकास टोपिक से आएगा। इसलिए आप यह दो टोपिक तो अच्छे से पढ़ ही लें। जीव विज्ञान सेक्शन में चित्र बनाने के लिए भी आएंगे। इसमें यौन प्रजनन, पुरुष और महिला प्रजनन प्रणाली के चित्र आ सकते है। साथ ही फूलों की संरचना के चित्र भी आ सकते है। चित्र बनाने की प्रैक्टिस जरुर करें। इसमें आपको आसानी से नंबर मिल सकते है।

आखिरी भाग प्राकृतिक घटना है, जो 8 नंबर का आएगा। इसमें आप पूरे नंबर ले सकते है। इसमें प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन अध्याय से 5 नंबर का एक लंबा प्रश्न पूछा जाएगा। 1 नंबर के छोटे उत्तर जीवाशम ईंधन और पर्यावरण प्रकृतिक संसाधनों से आएगा।

सेक्शन बी के लिए ऐसे करें तैयारी

अब बात करते है सेक्शन बी के बारे में और इसमें कैसे प्रश्न पूछे जाएंगे। इसमें अधिक्तर प्रैक्टिकल से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे। इसमें आपको यह पता होना जरुरी है की आप कौन से डिवाइज़ का इस्तेमाल करते है। कौन-सा मटेरियल इस्तेमाल करते है। यह सब आपको तब पता चलेगा, जब आप प्रैक्टिकल की प्रैक्टिस करेंगे।

“आज तक की सबसे बड़ी वैज्ञानिक खोज ख़ुद विज्ञान ही हैं।”

बोर्ड की परीक्षा के लिए टिप्स

  • टाइम टेबल बनाएं – विज्ञान विषय में तीन भाग होते है। जिसमें तीनों ही भाग बहुत महत्तवपूर्ण है। और आप कोई भी भाग छोड़ नहीं सकते है। आपको सब पढ़ना होगा। इसके लिए आपको अपना टाइम टेबल बनाना होगा। जिसका आपको सही ढ़ग से पालन करना होगा। तीनों भाग को आपको अपना समय देने होगा। जिससे आप तीनों भाग में अच्छे नंबर ला सकते है।
  • विकर सेक्शन पर दें ध्यान – अभी आपके पास इतना समय है कि आप हर विषय को पढ़ सके। इससे आपको अपने पता चल जाएगा की आपको किस में ज्यादा मेहनत करनी है। यह पता लगने के बाद छात्र अपने उस टोपिक पर ध्यान दे सकते है। और उस टोपिक को मजबूत बना सकते है। बोर्ड परीक्षा आने पर आपको सभी टोपिक मजबूत हो जाएंगे।
  • लिखकर करें याद – छात्रों को बता दें कि अगर वो लिखकर याद करेंगे तो वो कभी नहीं भूलेंगे। इसलिए यह तरीका हमेशा सफलता दिलाता है। लेकिन आपको बता दें कि आपको सब कुछ लिखने की जरुरत नहीं है। जो टोपिक आपको अच्छे से याद नहीं होते उन्हे आप लिखकर याद कर सकते है। जिन टोपिक आ सकते है उन्हें भी आप लिखकर याद कर सकते है।
  • कांसेप्ट को अच्छे से समझे – अगर आपको किसी भा टोपिक का कांसेप्ट समझ आ गया। तो आप उस टोपिक से जुड़े किसी भी प्रश्न का उत्तर दे सकते है। इसलिए अपने कांसेप्ट क्लियर करें। खासकर विज्ञान के पेपर में कांसेप्ट क्लियर होने जरुरी है। हर टोपिक की थ्योरी अच्छे से याद करें।

अपने विचार बताएं।