आज हम उन उम्मीदवारों के लिए एक खबर लेकर आए हैं जो सीटेट की परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। जी हां आपको बता दें कि केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) को दिल्ली हाईकोर्ट ने चार महीने के भीतर ही राष्ट्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) आयोजित करने का आदेश दिया है। इतना ही नहीं सााथ ही हाईकोर्ट ने एक सप्ताह के अंदर ही इसकी प्रक्रिया को शुरू करने के लिए भी कहा है। हम उम्मीदवारों को सलाह देंगे कि अगर आप सीटेट की परीक्षा में शामिल होने वाले हैं तो तैयार हो जाएं और अपनी तैयारी को और अच्छे से करना शुरू कर दें। क्योंकि अब आपके पास बहुत कम समय है। अगले चार महीने के भीतर ही आपको सीटेट की परीक्षा देनी होगी।

हाईकोर्ट ने कहा चार महीने के भीतर सीबीएसई आयोजित करे सीटेट परीक्षा

ये खबर उन उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर है जो सीटेट परीक्षा का इंतजार कर रहे थे। हाईकोर्ट के इस आदेश से देशभर के बीएड और एमएड छात्रों ने सुकून की सांस ली। साथ ही उनको एक लाभ भी होगा। क्योंकि सितंबर 2016 के बाद से सीटेट का आयोजन नहीं किया गया है। जिससे जो छात्र सीटेट पास नहीं हुए। वे इसकी वजह से सरकारी स्कूलों की शिक्षक भर्ती में आवेदन करने से वंचित रह जाते हैं। साल में कम से कम एक बार इस परीक्षा का आयोजन अनिवार्य है।

हाईकोर्ट का ये आदेश जस्टिस रेखा पल्ली ने हिमांशू डबास और अन्य छात्रों की ओर से दाखिल याचिका पर दिया गया है। याचिका में मांग की गई थी कि सीबीएसई और राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) को सीटेट कराने का आदेश दिया जाए। हाईकोर्ट ने पहले सभी पक्षों को सुना। उसके बाद सीटेट आयोजित नहीं कराए जाने पर कड़ी नाराजगी भी जताई। साथ ही हाईकोर्ट ने कहा कि इन तथ्यों से साफ है कि सीटेट कराने को लेकर सीबीएसई और एनसीटीई के बीच संवाद की कमी है। साथ ही इसकी वजह से जिन लोंगो के पास शैक्षिक योग्यता है वे भी बड़े पैमाने पर सरकारी सेवाओं में (शिक्षक की) नौकरी पाने से वंचित हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here