बोर्ड परीक्षा हमारे लिए बहुत जरुरी है। इसके परिणाम ही हमारे भविष्य का आधार होते हैं। फिर चाहे वो दसवीं बोर्ड हो या बारहवीं बोर्ड दोनों में अच्छे अंक लाना बहुत जरुरी है। हम कहीं भी नौकरी के लिए आवेदन करते है तो हमसे हमारी दसवीं और बारहवीं के नंबर जरूर पूछे जाते हैं। इसलिए बोर्ड्स में अच्छे अंक प्राप्त करना बहुत जरुरी है। सीबीएसई क्लास 12 बोर्ड्स की परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं। छात्रों ने सीबीएसई क्लास 12 परीक्षा की तैयारियां अभी से ही करनी शुरू कर दी हैं। परीक्षा के नाम से ही बहुत से छात्र घबराने लगते हैं। लेकिन अब उन्हें घबराने की कोई जरुरत नहीं है। हम यहां ले कर आए हैं सीबीएसई क्लास 12 परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के कुछ टिप्स। तो चलिए देखते हैं सीबीएसई क्लास 12 परीक्षा में अधिक अंक कैसे प्राप्त करे

यह भी पढ़ें : सीबीएसई 12वीं हिंदी केन्द्रिक परीक्षा पैटर्न

सीबीएसई 12वीं हिंदी ऐक्षिक परीक्षा पैटर्न

सीबीएसई क्लास 12 की परीक्षा में सभी विषय महत्वपूर्ण होते हैं। और सभी विषयों पर एक समान ध्यान देने की जरुरत होती है। लेकिन हिंदी विषय पर थोड़ा ज्यादा ध्यान देने की जरुरत होती है। कई छात्र हिंदी को आसान समझ लेते हैं और ध्यान नहीं देते। और व्याकरण या मात्राओं की गलतियां कर देते हैं। जिससे उनके बहुत से अंक भी चले जाते हैं। तो चलिए आगे बढ़ते हैं और देखते हैं क्या है परीक्षा के पैटर्न। और किस खंड से आते है कितने नंबर के प्रश्न।

सीबीएसई क्लास 12 हिंदी ऐक्षिक परीक्षा के पैटर्न

सीबीएसई क्लास 12 हिंदी ऐक्षिक परीक्षा कुल 100 अंकों की होती है। इस परीक्षा में छात्रों को 3 घंटे का समय दिया जाता है। नीचे बानी तालिका के माध्यम से जानते हैं परीक्षा में किस पैटर्न से प्रश्न पूछे जाते हैं।

प्रश्नो के प्रारूप  दक्षता परिक्षण / अधिगम परिक्षण  कुल अंक 
अपठित बोध (पठन कौशल) अवधारणात्मक बोध, अर्थग्रहण, अनुमान लगाना, विश्लेषण करना, शब्द ज्ञान व भाषिक प्रयोग, सृजनात्मक, मौलिकता 20
कार्यालय हिंदी और रचनात्मक लेखन (लेखन कौशल) संकेत बिंदुओं का विस्तार, अपने मत की अभिव्यक्ति, सोदाहरण समझना, औचित्य निर्धारण, भाषा में प्रवाहमयता, सटीक शैली, उचित प्रारूप का प्रयोग, अभिव्यक्ति की मौलिकता, सृजनात्मकता, सृजनात्मकता एवं तार्किकता 25
पाठ्य पुस्तकें प्रत्यास्मरण, विषय वस्तु का बोध एवं व्याख्या, अर्थ ग्रहण (भाव ग्रहण), लेखन के मनोभावों को समझना, शब्दों का प्रसंगानुकूल अर्थ समझना, आलोचनात्मक चिंतन, तार्किकता, सराहना, साहित्यिक परम्पराओं के परिवेश में मूल्यांकन, विश्लेषण, सृजनात्मकता, कल्पनाशीलता, कार्य – कारण सम्बन्ध स्थापित करना, सामान्यता एवं अंतरों की पहचान, अभिव्यक्ति की मौलिकता एवं जीवन मूल्यों की पहचान 55

सीबीएसई क्लास 12 हिंदी ऐक्षिक परीक्षा अंक वितरण

सीबीएसई बोर्ड 12 वीं  के सिलेबस के बाद देखते हैं किस भाग से कितने नंबर के प्रश्न आते हैं।

अपठित अंश : 20 अंक 

  1. अपठित गद्यांश पर आधारित बोध, प्रयोग, रचनांतरण, शीर्षक आदि पर लघुतारात्मक प्रश्न [ उपयुक्त शीर्षक ( 1 अंक ) + लघु प्रश्न ( 2 * 7 )] से कुल 15 नंबर के प्रश्न पूछे जाते हैं।
  2. अपठित व्याकरण पर आधारित पांच अति लघुतारात्मक प्रश्न ( १ * 5 ) से कुल 5 नंबर के प्रश्न पूछे जाते हैं।

 कार्यालय हिंदी और रचनात्मक लेखन ( पुस्तक: अभव्यक्ति और माध्यम ) : 25 अंक 

  1. किसी एक विषय पर निबंध ( विकल्प सहित ) से कुल 10 अंकों के प्रश्न आते हैं।
  2. कार्यालयी पत्र ( विकल्प सहित ) ( 5 * 1 ) से कुल 5 अंकों के प्रश्न आते हैं।
  3. जनसंचार माध्यम और पर्कातीता के विविध आयामों पर पांच अति लघुतारात्मक प्रश्न ( 1 * 5 ) से कुल कुल 5 अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं।

पाठ्य पुस्तक : 55 अंक 

  • अंतरा भाग – 2 
    • काव्य भाग : 20 अंक 
      1. एक काव्यांशी की सप्रसंग व्याख्या से कुल 8 अंक के प्रश्न आते हैं।
      2. कविता के कथ्य से दो प्रश्न आते हैं ( 3 + 3 ) कुल 6 अंकों के प्रश्न।
      3. कविताओं के काव्य – सौंदर्य पर दो प्रश्न आते हैं, ( 3 + 3 ) कुल 6 अंकों के प्रश्न।
    • गद्य भाग : 20 अंक 
      1. एक गद्यांश की सप्रसंग व्याख्या से कुल 6 अंकों के प्रश्न आते हैं।
      2. पाठ की विषय वास्तु पर दो प्रश्न पूछे जाते हैं, ( 4 + 4 ) कुल 8 अंक के प्रश्न।
      3. किसी एक लेखक / कवि का साहित्यिक परिचय से कुल 6  प्रश्न आते हैं।
  • अंतराल भाग – 2 : 15 अंक 
    1. पाठों की विषय वास्तु पर आधारित एक मूल्यपरक प्रश्न से 5 नंबर के प्रश्न आते हैं।
    2. विषय वास्तु पर आधारित दो निबंधात्मक प्रश्न ( 5 + 5 ) से कुल 10 अंकों के प्रश्न आते हैं।

सीबीएसई क्लास 12 हिंदी ऐक्षिक परीक्षा में अच्छे अंक प्ताप्त करने के कुछ टिप्स

  • सबसे पहले उन खण्डों की सूचि बनाएं जिस पर आपको ज्यादा मेहनत करने की जरुरत नहीं है।
  • सुबह उठ कर एक लक्ष्य तय करें कि किन भागों को आज ख़त्म करना है।
  • अपनी लिखावट पर भी दें। अपनी लिखावट हमेशा साफ़ रखें।
  • व्याकरण और मात्राओं पर ख़ास ध्यान दें। इसमें छोटी – छोटी गलतियों पर भी कई नंबर चले जाते हैं।
  • लगातार कई घंटों तक बैठ कर पढ़ाई न करें। पढ़ाई के बिच थोड़ी – थोड़ी देर का ब्रेक लेते रहें। इससे दिमाग को भी आराम मिलता है।
  • देर रात तक जग कर पढ़ने से अच्छा है सुबह जल्दी उठ कर पढ़ें।

हम उम्मीद करते हैं कि हमारी यह आलेख आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। और हमारे दिए गए टिप्स को अपना कर आप अच्छे अंक प्राप्त करने में सफल रहें।

अपने विचार बताएं।