सीबीएसई 12वीं हिंदी केन्द्रिक परीक्षा पैटर्न

12 वीं की पढ़ी कैसे करें आज इस पूरे आलेख में सीबीएसई 12 वीं के हिंदी केन्द्रिक विषय की बात करेंगे। छात्र कैसे आसान तरीकों से अपने हिंदी केन्द्रिक विषय को पढ़ सकते हैं। अब 12 वीं बोर्ड एग्जाम 2019 के लिए छात्रों के पास ज्यादा समय नहीं रह गया है। कुछ छात्रों ने अपने बोर्ड परीक्षा की  तैयारी भी शुरू कर दी होंगी। छात्रों के लिए 12 वीं बोर्ड परीक्षा बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होती हैं। 12 वीं बोर्ड के लिए छात्रों को ज्यादा मेहनत भी करनी पड़ती है। इसलिए इस आर्टिकल के जरिये आप आसानी से हिंदी केन्द्रिक विषय की तैयारी कर सकते हैं। छात्र परीक्षा की चिंता न करें। हिंदी केन्द्रिक विषय से जुडी सारी परेशानियों को इस आर्टिकल में माधयम से हल करेंगे। जल्दी से जल्दी कैसे किसी विषय को याद करें सब छत्र का यही प्रश्न होता है। लेकिन आज हम यहां छात्रों को कुछ  ऐसे टिप्स देंगे जिससे छात्र आसानी से हिंदी केन्द्रिक विषय को याद कर सके। कुछ छात्रों को ऐसा लगत है कि हिंदी विषय बहुत आसान है। पर हिंदी में मात्राओं की छोटी से छोटी गलती के कारण भी बहुत से अंक गवाने  पड़ते हैं। इसलिए कभी-कभी आसान चीज़े भी बहुत मुश्किल हो जाती है। उन्ही मुश्किलों का आसान सा समाधान हमारे इस आर्टिकल में है। इन्ही आसान टिप्स को जानने के लिए छात्र हमारा ये आर्टिकल अंत तक जरूर पढ़ें। आप इस आर्टिकल में से सीबीएसई 12वीं हिंदी केन्द्रिक परीक्षा पैटर्न देख सकते हैं। और अच्छे से सीबीएसई 12वीं हिंदी केन्द्रिक परीक्षा पैटर्न को समझ सकते हैं।

सीबीएसई 12वीं हिंदी केन्द्रिक परीक्षा पैटर्न

वैसे तो सभी विषय बोर्ड परीक्षा की दृष्टि से बहुत महत्त्वपूर्ण होने हैं। फिर भी हिंदी विषय पर ध्यान देना बहुत जरुरी होता है। क्योंकि छात्र हिंदी विषय को आसान समझ लेते हैं। हिंदी में मात्राओं की छोटी से छोटी गलत से भी छात्र बहुत अंक गावं देते हैं। छात्रों को हिंदी विषय को बिलकुल भी आसान नहीं समझना चाहिए। इसलिए छात्रों को हिंदी विषय पर अधिक धयान देने की जरुरत है। बता दें कि 12 वीं बोर्ड में  हिंदी विषय पूरे 100 अंक के होते हैं। आगे जाकर जिन छात्रों को हिंदी विषय में करियर बनाना है उनके लिए विषय पढ़ना बहुत आवश्यक है। हालांकि यह कोई कठिन विषय नहीं है। लेकिन इस पेपर में व्याकरण और सही शब्द का महत्व अधिक होता है। अगर पेपर में इन दोनों चीजों का ध्यान ना रखा जाए तो बहुत अंक कटते हैं। इसलिए व्याकरण का सामान्य  ज्ञान और सही शब्द आना बेहद जरूरी है।

इस प्रकार होता है 12 वीं हिंदी केन्द्रिक परीक्षा का पैटर्न

प्रश्नो का प्रारूप दक्षता परीक्षण/ अधिगम परिणाम कुल अंक
अपठित बोध अवधारणात्मक बोध, अर्थग्रहण, अनुमान लगाना, विश्लेषण करना, शब्द -ज्ञान व भाषिक प्रयोग, सृजनात्मक, मौलिकता 20
कार्यालयी हिंदी  और सृजनात्मक लेखन (लेखन कौशल) संकेत बिंदुओं का विस्तार, अपने मत की अभिवयक्ति, सोदाहरण सनझना, औचित्य निर्धारण, भाषा में प्रवहमयता, सटीक शैली, उचित प्रारूप का प्रयोग, अभिव्यक्ति की मौलिकता, सृजनात्मकता, सृजनात्मकता एवं तार्किकता 25
पाठ्यपुस्तकें प्रत्यास्मरण, विषयवस्तु का बोध एवं व्याख्या, अर्थग्रहण(भावग्रहण), लेखक के मनोभावों को समझना, शब्दों का प्रसंगनुकूल अर्थ समझना, आलोचनात्मक चिंतन, तार्किकता, सराहना, साहित्यिक परम्परों के परिपेक्ष में मूल्यांकन, विश्लेषण, सृजनात्मक, कल्पनाशीलता, कार्य-कारण सम्बन्ध स्थापित करना ,साम्यता एवं अन्तरो की पहचान, अभिव्यक्ति में मौलिकता एवं जीवन-मूल्यों की पहचान 55
कुल अंक 100

  जाने किससे आता है कितने अंकों  के प्रश्न –

  1. अपठित अंश  यह भाग कुल 20 अंक का होगा।  जिसमे दो भाग होंगे। पहले भाग में अपठित गद्यांश 15 मार्क्स के होंगे। वहीँ दूसरे भाग में अपठित काव्यांश 5 मार्क्स के होंगे।
  2. कार्यालयी हिंदी और रचनात्मक हिंदीं – यह भाग कुल 25 अंक का होता है। जिसमे 5 भाग होते हैं। इसमें किसी एक विषय पर अनुच्छेद 5 अंक  का होता है ,कार्यालयी पत्र 5 अंक  होता है, प्रिंट माध्यम, सम्पादकीय, रिपोर्ट ,आलेख आदि पर पांच अतिलघूत्तरात्मक प्रश्न 5 अंक के होते हैं, किसी एक विषय पर आलेख अथवा हल ही में पढ़ी पुस्तक की समीक्षा 5 अंक के होते हैं और जीवन -सन्दर्भो से जुड़ी घटनाओं और स्तिथियों पर फीचर लेखन 5 अंक के होते हैं।
  3. पाठ्यपुस्तक – यह भाग कुल 55 अंक का होता है। इसमें 2 भाग होते हैं

आरोह भाग 2-  इसमें दो भाग होते हैं काव्य भाग व गद्य भागकाव्य भाग में 20 अंक का होता है। जिसमे दो काव्यांशों में से किसी एक पर अर्थग्रहण पर चार प्रश्न 8 अंक के होते हैं, काव्यांश के सौंदर्यबोध  पर किसी एक काव्यांश पर तीन प्रश्न 6 अंक के होते हैं, कविताओं की विषय-वस्तु से सम्बन्घित दो लघूत्तरात्मक प्रश्न 6 अंक  के होते हैं। गद्य भाग कुल 20 अंक का होता है। जिसमे एक गद्यांश पर आधारित अर्थग्रहण के चार प्रश्न 8 अंक होते हैं, पाठों की विषयवस्तु पर आधारित चार बोधात्मक प्रश्न 12 अंक के होते हैं।

वितान भाग 2 – यह भाग कुल 15 अंक के होता है। जिसमे पाठों की विषयवस्तु पर आधारित एक मूल्यपरक प्रश्न 5 अंक का होता है इसके अतिरिक्त विषयवस्तु पर आधारित दो निबंधात्मक प्रश्न 5 अंक का होता है।

कुछ महत्वपूर्ण टिप्स

जो भी छात्र बोर्ड परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे है उनका सबसे पहला प्रश्न यही रहता है की बोर्ड परीक्षा की तैयारी कैसे करें। इस विषय  में सोचने में ही छात्रों का अधिक समय व्यर्थ हो जाता है। इसी कारण कुछ छात्र सही से तैयारी भी नहीं कर पाते हैं। जिसके कारण परीक्षा में कम अंक आते हैं। पर अब छात्र ज्यादा परशान न हो। हम आपको हिंदी केन्द्रिक विषय पढ़ने का कुछ आसान टिप्स देने वाले हैं –

  • परीक्षा के समय हर भाग में दिए गए प्रश्नो को सही क्रम में करें।
  • अगर प्रश्न ऊपर निचे करके करते भी हैं  तो उसके सामने प्रश्न का सही अंक डाले।
  • आप जो भी उत्तर आप लिख रहे है वो संछिप्त, सीधे और साफ़ शब्दों में लिखा हो।
  • प्रश्नो में दिए गए शब्द सीमा को ध्यान में रखकर अपना उत्तर लिखे। उत्तर न  लम्बा हो और न ज्यादा छोटा।
  • हिंदी केन्द्रिक के मूल विषय एवं मूल बातों रखें।
  • पिछले 5 वर्षो के पेपर को जरूर पढ़ लें
  • सही शब्दों का चुनाव करें। वाक्यों के ज्यादा बड़ा ना लिखें।
  • व्याकरण के भाग पर विशेष रूप से ध्यान दें।

ऊपर दिए टिप्स का पालन करके और परीक्षा पैटर्न को सही से समझ कर छात्र आसानी से हिंदी केन्द्रिक विषय की तैयारी। पिछले 5  वर्षो के पेपर को सही से पढ़ें। इससे बहुत अधिक मदद मिलती है।

अपने विचार बताएं।