डीडीयू काउंसलिंग 2019

डीडीयू काउंसलिंग 2019 का आयोजन दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय द्वारा किया जाएगा। जो भी छात्र बी.एससी काउंसलिंग शेड्यूल की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं वह हमारे पेज पर दी गई लिंक से प्राप्त कर सकते हैं इसके अलावा छात्र आधिकारिक वेबासाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। DDU Counselling 2019 की पूरी जानकारी हमारे पेज पर आसानी से प्राप्त होगी। जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि दीनदयाल उपाध्याय यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए छात्रों को ddu entrance exam 2019 की परीक्षा देनी होती है। ये परीक्षा यूनिवर्सिटी द्वारा ही आयोजित किया जाता है। डीडीयू रिजल्ट 2019 जारी होने के बाद यूनिवर्सिटी द्वारा मेरिट लिस्ट निकाली जाती है। जिन भी छात्रों का नाम मेरिट लिस्ट में आता है उन्हें काउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है। मेरिट लिस्ट प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर निकाली जाती है। DDU Counselling 2019 की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए कृप्या इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

नवीनतम- बी.एससी नर्सिंग प्रवेश परीक्षा के लिए काउंसलिंग शेड्यूल हुआ जारी, नीचे दी गई लिंक से प्राप्त करें पूरी जानकारी।

डीडीयू काउंसलिंग 2019/ DDU COUNSELLING 2019

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि जिन छात्रों को ddu entrance exam 2019 की काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा उन्हें अपने साथ जरूरी दस्तावेज लेकर आने होंगे। डीडीयू एडमिशन 2019 के लिए छात्रों को काउंलिंग की प्रक्रिया में भाग लेना अनिवार्य होगा। अगर छात्र का नाम मेरिट लिस्ट में आ जाता है लेकिन छात्र काउंसलिंग की प्रक्रिया में शामिल नहीं होते, तो ऐसी स्थिति में छात्र को एडमिशन नहीं दिया जाएगा। आप इस आर्टिकल के जरिए काउंसलिंग प्रक्रिया के विभिन्न चरणों के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। डीडीयू काउंसलिंग 2019 के लिए नीचे दी गई महत्वपूर्ण तिथियों का विशेष ध्यान रखें।

महत्वपूर्ण तिथियां

कार्यक्रम तारीख
परीक्षा की तिथि 10 जून से 14 जून, 2019
रिजल्ट की तिथि जून, 2019
काउंसलिंग की तिथि जुलाई, 2019

काउंसलिंग- बी.एस.सी नर्सिंग प्रवेश 2019 के लिए काउंसलिंग शेड्यूल यहां से प्राप्त करें। 

च्वाइंस फीलिंग

नोटिस (काउंसलिंग)

डीडीयू प्रवेश परीक्षा 2019 काउंसलिंग प्रक्रिया

डीडीयू प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी होने के बाद चुने गए छात्रों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा। DDU Counselling 2019 प्रक्रिया में भाग लेने के लिए छात्रों को निम्न चरण से होकर गुजरना पड़ेगा-

प्रथम चरण- रजिस्ट्रेशन

  • सबसे पहले छात्रों का रजिस्ट्रेशन करना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन करने के लिए छात्र आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं या फिर हमारे द्वारा दिए गए लिंक से डायरेक्ट रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन करने के लिए छात्र सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज खुलने के बाद आपको काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करने की लिंक प्राप्त हो जाएगी, उसे क्लिक कर दें।
  • मांगी गई जानकारी भरें और सफलता पूर्वक रजिस्ट्रेशन कर लें।

दूसरा चरण- रजिस्ट्रेशन शुल्क

  • इस चरण में छात्रों को शुल्क का भुगतान करना होगा।
  • छात्र शुल्क का भुगतान क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग आदि द्वारा कर सकते हैं।
  • शुल्क भरने के बाद ही रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा माना जाएगा।

तीसरा चरण- चॉइस फिलिंग (विकल्प)

  • इस चरण में छात्र अपने पसंद के कॉलेज और कोर्स का चुनाव कर सकते हैं।
  • चॉइस फिलिंग के लिए भी छात्रों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • चॉइस फिलिंग का चुनाव छात्र बहुत ही सावधानी के साथ करें।

चौथा चरण- सीट आवंटन

  • इस चरण में छात्रों को सीट आवंटन की जाएगी।
  • यूनिवर्सिटी द्वारा छात्र की रैंकिंग के हिसाब से उन्हें सीट आवंटन की जाएगी।

पांचवा चरण- रिपोर्ट करना

  • अंतिम चरण में छात्र को दी गई सीट के मुताबिक वहां रिपोर्ट करनी होगी।
  • छात्र निर्धारित की गई तिथि के अनुसार ही कॉलेज में रिपोर्ट करें।

जरूरी दस्तावेज

ddu entrance exam 2019 की काउंसलिंग के दौरान छात्र को अपने साथ सभी जरूरी दस्तावेज लेकर आने होंगे-

  • कक्षा 10 की मार्क शीट और पासिंग सर्टिफिकेट
  • कक्षा 12 की मार्क शीट और पासिंग सर्टिफिकेट
  • श्रेणी प्रमाण पत्र
  • डीडीयू एडमिट कार्ड 2019
  • डीडीयू रैंक कार्ड 2019
  • एड्रैस प्रूफ
  • चरित्र प्रमाण पत्र
  • चिकित्सा प्रमाण पत्र

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय

विश्‍वविद्यालय संस्थापना की सभी औपचारिकताएँ पूर्ण होने के साथ 01 मई 1950 ई0 को तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री गोविन्द बल्लभ पंत ने गोरखपुर विश्‍वविद्यालय का शिलान्यास किया और गोरखपुर विश्‍वविद्यालय को स्वतन्त्र भारत में स्थापित उत्तर प्रदेश का पहला विश्‍वविद्यालय होने का गौरव प्राप्त हुआ। मई 1956 ई. में उत्तर प्रदेश की विधान सभा द्वारा गोरखपुर विश्‍वविद्यालय अधिनियम पारित हुआ तथा अगस्त 1956 ई0 से प्रभावी हो गया। 1957 ई0 तक ‘पन्त ब्लाक’ एवं ‘नाथचन्द्रावत’ छात्रावास का भवन बनकर तैयार हो गया। 11 अप्रैल 1957 ई0 को श्री बी. एन. झा इस विश्‍वविद्यालय के प्रथम कुलपति बने।

आधिकारिक वेबसाइट – ddugu.ac.in

डीडीयू एडमिशन 2019

अपने विचार बताएं।