डिजिटल मार्केटिंग

आज के इस आधुनिक दौर में सभी को टेक्नोलोजी के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना होता है। और इसमें कोई भी पीछे नहीं रहना चाहता है। आजकल हर चीज आधुनिक हो गई चाहे वो पढ़ाई हो या फिर बिजनेस या फिर नौकरी। इस आधुनिक दौर में हर किसी को डिजिटल मार्केटिंग के बारे में थोड़ा बहुत पता होना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ज्ञान होना चाहिए कि डिजिटल मार्केटिंग है क्या और कितने प्रकार की होती है। हम सबको लगता है कि डिजिटल मार्केटिंग सिर्फ कुछ चीजों में सिमटी हुई है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। इस आर्टिकल से आपको पता चलेगा कि डिजिटल मार्केटिंग क्या है और डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जब हम पढ़ते है तो कई परिभाषाएं सामने आती है। और आखिरी में कुछ खास समझ में नहीं आता। डिजिटल मार्केटिंग को आसान शब्दों में कहते हैं जिस बिजनेस में डिजिटल डिवाइज का इस्तेमाल होता है। उदाहरण के तौर पर ऑनलाइन मार्केटिंग को डिजिटल मार्केटिंग कहा जा सकता है। क्योंकि अधिकतर लोगों को डिजिटल मार्केटिंग से ऑनलाइन मार्केटिंग ही समझ आता है। आपको बता दें कि डिजिटल मार्केटिंग सिर्फ ऑनलाइन मार्केटिंग तक ही सीमित नहीं है। डिजिटल मार्केटिंग के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप यह आर्टिकल पूरा पढ़ सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है ?

डिजिटल मार्केटिंग छोटा शब्द है लेकिन इसमें आज का आधुनिक युग पूरा बसा हुआ है। हैरानी की इसमें कोई बात नहीं है क्योंकि जब हमें किसी चीज के बारे में पूरा नहीं पता होता तो वो चीज छोटी ही लगती है। यहां से आपको पता चलेगा कि डिजिटल मार्केटिंग एक छोटा शब्द है लेकिन इसका स्वरुप बहुत बड़ा है। इस आर्टिकल से आप सभी को पता चलेगा कि डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है और इनमें क्या काम होता है।

  • सोशल मीडिया मार्केटिंग
    डिजिटल मार्केटिंग की बात शुरु की है तो सबसे पहले सोशल मीडिया मार्केटिंग के बारे में बात करते हैं। डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल करना अगर किसी को अच्छे से आ जाए तो इससे अच्छी बात किसी बिजनेस के लिए नहीं हो सकती है। सोशल मीडिया मार्केटिंग में लोग अपने प्रोडक्ट और सर्विस को प्रोमोट करते हैं। आज के दौर में अधिकतर लोग सोशल मीडिया से जुड़े हुए हैं इसलिए सोशल मीडिया पर अपने बिजनेस का प्रचार करना बहुत लाभदायक है। प्रचार करने से पहले यह पता होना जरुरी है कि हम प्रचार कौन सी जनता के लिए कर रहे हैं। तभी सोशल मीडिया का सही से इस्तेमाल हो पाएगा।
  • कंटेंट मार्केटिंग
    आजकल हर बिजनेस का प्रचार करने के लिए डिजिटल मार्केटिंग की जरुरत पड़ती है। और जो लोग डिजिटल मार्केटिंग की मदद से बिजनेस करते हैं उन लोगों का बिजनेस भी अच्छा चलता है। लेकिन बिजनेस को लंबी दौड़ में लाने के लिए बिजनेसमेन को अपने प्रोडेक्ट को सही ढ़ग से पेश करना भी आना चाहिए। इसका मतलब है कंटेंट मार्केटिंग भी प्रोडेक्ट की अच्छी होनी चाहिए। कंटेंट ऐसा होना चाहिए जिसमें एक भी जानकारी की कमी न हो। जिससे की टारगेट ग्राहक तक पूरी जानकारी आसान शब्दों में पहुंच जाए।
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन
    सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसइओ) भी डिजिटल मार्केटिंग में से ही एक है। एसईओ में सभी वेबसाइट के कंटेंट को देखा जाता है और यह तय किया जाता है कि किस वेबसाइट का कंटेंट ऊपर आना चाहिए और बाकी के कंटेंट कहां आने चाहिए। कौन – सा कंटेंट कहां आएगा इसका चयन कंटेंट में इस्तेमाल किए गए शब्दों पर निर्भर होता है। जो शब्द सबसे ज्यादा इस्तेमाल में है और अगर उस शब्द को कंटेंट में इस्तेमाल किया गया है तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ) आपका आर्टिकल सर्च करने पर ऊपर दिखाएगा। जिस वेबसाइट का कंटेंट सबसे अच्छा और अलग होता है सर्च इंजन उसी वेबसाइट के आर्टिकल को ऊपर दिखाता है।
  • सर्च इंजन मार्केटिंग
    जहां सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसइओ) वेबसाइट पर एनपेड ट्रैफिक लाता है वहीं सर्च इंजन मार्केटिंग की मदद से वेबसाइट पर पेड (पैसे देकर) ट्रैफिक आता है। सर्च इंजन के उदाहरण के लिए गूगल सबसे अच्छा और प्रचलित सर्च इंजन है। गूगल सबसे प्रचलित सर्च इंजन होने के कारण सभी इस सर्च इंजन में अपने प्रोडेक्ट का प्रचार करने के लिए एडवर्टिजमेंट देते हैं। जिससे की सभी लोगों को बिजनेस के बारे में पता चलता है। एसईएम में बिजनेसमेन सर्च इंजन को पैसे देते हैं जिसके बाद वो सर्च इंजन उनके बिजनेस का प्रचार करते हैं अपने सर्च इंजन पर एडवर्टिजमेंट देकर।
  • पे – पर क्लिक एडवरटाइजिंग
    पे – पर क्लक एडवरटाइजिंग के बारे में ज्यादातर उन्हीं लोगों को पता होगा जो अपना बिजनेस अधिकतर ऑनलाइन करते हैं। आजकल ऑनलाइन बिजनेस में बहुत से लोग अपनी किसमत आजमा रहे हैं जिसके लिए सोशन मीडिया से जुड़ी सभी चीजों का ज्ञान होना जरुरी है। पे – पर क्लक एडवरटाइजिंग में मार्केटर अपने दिए गए लिंक पर क्लिक होने पर वेबसाइट को पैसे देते हैं। जितनी बार वेबसाइट पर दिए गए लिंक पर क्लिक होगा उसी हिसाब से वेबसाइट को मार्केटर पैसा देगा। इसके बाद यह एडवर्टिजमेंट उस वेबसाइट की फीड में दिखाई देता है।
  • ई – मेल मार्केटिंग
    ई – मेल मार्केटिंग के बारे में बहुत कम लोगों को पता है जो न के बराबर ही है। इसकी जानकारी भी उन लोगों को हो सकती है जो अपना खुद का ऑनलाइन बिजनेस शुरु करने वाले हैं। और जिनको नहीं पता उनके लिए जरुरी है कि इसके बारे में पता कर लें। ई – मेल मार्केटिंग से आपके फॉलोअर्स बढ़ेंगे जिससे आपके बिजनेस को अच्छी शुरुआत मिलेगी। बिजनेस को अच्छी शुरुआत दिलाने के लिए सबसे जरुरी होता है कि वेबसाइट पर हम ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक ला सकते हैं। फॉलोअर्स को बढ़ाने के लिए सबसे जरुरी है कि आप अपने फॉलोअर्स को सही जानकारी दे और उनका भरोसा कमा सकें।
  • रेडियो एडवरटाइजिंग
    रेडियो एडवरटाइजिंग डिजिटल मार्केटिंग में आता है। इसके नाम से ही इसका मतलब समझ आ जाता है। जो एडवरटाइजिंग हम रेडियो पर सुनते हैं उनको रेडियो एडवरटाइजिंग कहते हैं। अधिकतर लोग जब भी ऑफिस या फिर घूमने जाते हैं तब हमेशा वो गाने सुनते जाते हैं। गाने सुनते समय जो बीच में रेडियो एडवरटाइजिंग आती है उसको हम आसान शब्दों में रेडियो एडवरटाइजिंग कहते हैं। कई बार यह एडवरटाइमेंट हमें परेशान भी कर देती है लेकिन कुछ रेडियो एडवरटाइमेंट हमें अच्छी भी लगती हैं। जैसे कि किसी कार की एडवरटाइमेंट या फिर किसी खाने की नई एप्लीकेशन की एडवरटाइमेंट हमारा ध्यान खींच लेती है। जिसके बाद हम उसके बारे में सर्च करते हैं।
  • टेलीविजन एडवरटाइजिंग
    टेलीविजन एडवरटाइजिंग का नाम सुनकर आप लोगों को लग रहा होगा कि टी.वी एडवरटाइजिंग अब कौन करता होगा। लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि अभी भी बहुत से ऐसे ब्रांड हैं जो टी.वी पर बहुत अच्छा बिजनेस कर रही हैं। आपको बता दें कि टेलीविजन एडवरटाइजिंग ने अभी भी मार्केट में एक अच्छा मुकाम हासिल किया हुआ है। लोगों का रुक डिजीटल मार्केटिंग की तरफ हुआ जरुर है लेकिन लोग टेलीविजन एडवरटाइजिंग को भूले भी नहीं हैं।

ऊपर दिए गए डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार के बारे में पढ़कर आपको पता लग गया होगा कि डिजिटल मार्केटिंग के कितने ऐसे प्रकार हैं जिनके बारे में अभी भी लोगों को पता नहीं है। अगर आप में से कोई ऑनलाइन बिजनेस की सोच रहा है तो ऊपर दिए गए डिजिटल मार्केटिंग के तरीकों में से आप किसी का भी चयन कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए सबसे जरुरी है कि आप उस डिजिटल मार्केटिंग के बारे में सब पता कर लें। क्योंकि डिजिटल मार्केटिंग के इस दौर में बहुत कॉम्पटिशन हो गया है। इसमें सफल होने के लिए आपको कड़ी मेहनत, लगन और दिमाग की जरुरत पड़ेगी।

अपने विचार बताएं।