जब भी हम किसी परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं तो हम उस परीक्षा से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं साथ ही हम ये भी जानना चाहते हैं कि उसमें आगे क्या स्कोप है हम मेहनत करके कहाँ तक पहुँच सकते हैं साथ ही जब हम किसी नौकरी के लिए आवेदन करते हैं तो तो हम उसके बारे में प्रोमोशंस से सम्बंधित जानकारी चाहते हैं इससे हम ये पता करना चाहते हैं की हम भविष्य में कितना आगे बढ़ सकते है तो आज हम आपके लिए ऐसा ही कुछ इस आर्टिकल में लेकर आये हैं जी हाँ आज हम आपको इस साल की सबसे बड़ी भर्ती यानि रेलवे की ‘ग्रुप डी’ की भर्ती की सैलरी , भविष्य के पहलु से सम्बंधित जानकारियाँ बताने वाले हैं ।

रेलवे ग्रुप डी भर्ती सैलरी और पदोन्नति

रेलवे में नौकरी करना बहुत लोगो का सपना होता है और हो भी क्यों ना देश के सबसे बड़े संस्थानों में से एक भारतीय रेल सर्विस जिसका नेटवर्क पूरे देश में बहुत अच्छे से फैला हुआ है भारतीय रेल का अंग बनना अपने आप में गौरव की बात है हम आपको आज रेलवे ग्रुप डी के बारे में जानकारियाँ देने जा रहे हैं हम इसके सिलेबस , परीक्षा तिथि ऐसी सभी जानकारी अपने पिछले पोस्ट में दे चुके हैं अभी हम ये बता रहे हैं कि आप इस नौकरी से कितना आगे तक जा सकते हैं ,यहाँ जो हम आपको सैलरी बता रहे हैं वह सातवें वेतनमान के अनुसार है।

रेलवे समूह डी कर्मचारियों को 18,000 रुपये के शुरुआती वेतन के साथ 7 वें सीपीसी वेतन मैट्रिक्स का स्तर 01 मिलेगा।

मूल वेतन के अलावा आप विभिन्न लाभों के भी हक़दार है जिनमे शामिल हैं। 

  • दैनिक भत्ता, 8 किमी से अधिक मील का भत्ता
  • महंगाई भत्ता (डीए)
  • घर भाड़ा भत्ता (एचआरए)
  • परिवहन भत्ता (टीपीए)
  • नाइट ड्यूटी के लिए भत्ता
  • छुट्टियों के मामले में मुआवजा
  • निश्चित कन्वेंशन भत्ता
  • वाहनों के लिए कन्वेंशन भत्ता
  • विशेष मुआवजा (आदिवासी / अनुसूचित क्षेत्र) भत्ता
  • रेलवे स्कूल शिक्षक को विशेष भत्ता
  • बाल देखभाल, विकलांग महिलाएं और शैक्षिक भत्ता के लिए विशेष भत्ता
  • ओवरटाइम भत्ता (ओटीए)

अब अगर हम बात करतें है कि ग्रुप डी में भर्ती होने के बाद आप कितना आगे तक जा सकते हैं और कितनी पदोन्नति प्राप्त कर सकते हैं। 

  • ग्रुप डी पोस्ट में सीधे भर्ती व्यक्ति भर्ती के साथ 18000 रुपये / ग्रेड वेतन 1800 के वेतन के साथ खलासी / हेल्पर के रूप में काम करना शुरू कर देता है।
  • इसके बाद उन्हें ग्रेड वेतन 1900 के साथ तकनीशियन ग्रेड 3 में पदोन्नत किया जाता है।
  • ग्रेड 3 के रूप में काम करने के बाद उन्हें ग्रेड पे 2400 के साथ ग्रेड 2 में पदोन्नत किया जाता है।
  • कुछ साल की सेवा पूरी करने के बाद उन्हें 2800 के ग्रेड वेतन के साथ तकनीशियन गार्डे 1 में पदोन्नत किया जाता है।
  • उसके बाद वह ग्रेड वेतन 4200 के साथ मास्टर शिल्प आदमी पर पदोन्नत किया जाता है।
  • यदि वह एलडीसीई परीक्षा को साफ़ करता है तो वह ग्रेड वेतन 4200 के साथ जूनियर इंजीनियर बन सकता है।
  • यदि वह अभी भी कुछ साल की सेवाओं को छोड़ देता है तो वह 4600 के ग्रेड वेतन के साथ वरिष्ठ अनुभाग अभियंता के स्तर तक पहुंच सकता है।

आप अगर रेलवे भर्ती से जुड़ी और भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि हमने आपकी सहायता के लिए रेलवे भर्ती से जुड़ी सारी जानकारी अपनी वेबसाइट पर दे रखी है जिसे देखने के लिए आप यहाँ क्लिक करें।  

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here