होम गार्ड या गृह रक्षक, भारतियों की सुरक्षा के लिए एक बल है जो की प्रत्येक प्रदेश में सक्रिय है। होमगार्ड आपको शहरों में ट्रैफिक को नियंत्रित करते दिख सकते हैं। ये ना ही पुलिस है और ना ही सेना है तो आखिर ये हैं कौन तो चलिए जानते हैं इनके बारे में,

ताज़ा :

होम गार्ड क्या है ?

इंडियन होम गार्ड एक भारतीय अर्धसैनिक बलों का दल है। यह एक स्वैच्छिक बल है, जिसे भारतीय पुलिस के समक्ष सहायक के रूप में सौंपा गया है। पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के साथ भारत-चीन युद्ध के बाद 1962 में होमगार्ड संगठन को भारत में पुनर्गठित किया गया था, हालांकि यह कुछ स्थानों पर अलग-अलग इकाइयों में मौजूद था। होम गार्ड, नागरिकों के विभिन्न वर्गों से भर्ती किये जाते हैं जैसे कि पेशेवर, कॉलेज के छात्र, कृषि और औद्योगिक श्रमिक आदि। जो समुदाय के सुधार के लिए अपना खाली समय देते हैं। भारत के सभी नागरिक, 18-50 के आयु वर्ग में, पात्र हैं। होम गार्ड्स में सदस्यता का सामान्य कार्यकाल 3 से 5 साल है।

गृह रक्षक मूल रूप से 1946 में तत्कालीन बॉम्बे प्रांत में भर्ती किये गए थे। सेना, नौसेना, वायुसेना और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के अलावा, भारत में जुड़वां स्वैच्छिक संगठन – सिविल रक्षा और गृहगार्डों को किसी भी अयोग्य स्थिति में नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए तैयार किया गया था। इसलिए, हर साल 6 दिसंबर को पूरे देश में इस संगठन के स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है।

होम गार्डों की कुल संख्या

देश में होम गार्ड की कुल संख्या 573,793 है, जो की वर्तमान में 486,401 होमगार्ड 25 राज्यों और बाकी के केंद्र शासित प्रदेशों हैं। यह केरल में मौजूद नहीं है क्योंकि केरल में इनके कर्तव्यों को अन्य संगठनों द्वारा किया जाता है।

होम गार्ड के लिए पात्रता

शैक्षणिक पत्रता

  • होम गार्ड या गृह रक्षक के लिए उम्मीदवार का भारतीय होना ज़रूरी है तथा उम्मीदवार का 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए।

आयु सीमा

  • पुरुष उम्मीदवार के लिए आयु सीमा 20 से 47 वर्ष तथा
  • महिला उम्मीदवार के लिए आयु सीमा 20 से 42 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

होम गार्ड वेतन

सबसे बड़ा प्रश्न यही उठता है की होम गार्ड का वेतन कितना होता है ? तो हम आपको बताते हैं की होम गार्ड की सैलरी हर राज्य में अलग-अलग है। वैसे तो होम गार्ड को प्रतिदिन के हिसाब से 300 रूपये से लेकर 650 रूपये तक मिल जाते है। इस हिसाब से होम गार्ड का अनुमानित वेतन 18000 तक या इससे ज्यादा हो सकता है, पंजाब जैसे राज्य में होम गार्ड को 21000 रूपये प्रति माह होम गार्ड वेतन स्वरुप मिलते हैं। इसके अतिरिक्त होम गार्ड को मानदेय होमगार्ड भत्ता दिया जाता है।

चयन मानदंड

होम गार्ड भर्ती 2018 की चयन प्रक्रिया बहुत ही सरल है। उम्मीदवार को लिखित और शारीरिक परीक्षण पास करना होता है। जो की राज्य पुलिस के द्वारा आयोजित किया जाता है और जो उम्मीदवार चयन के दोनों चरण से गुजरते हैं उन्हें व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। तत्पश्चात चयनित उम्मीदवार को ट्रेंनिंग के लिए भेजा जाता है।

होम गार्ड ट्रेनिंग

सिविल डिफेन्स और होम गार्ड्स के कर्मियों को प्रशिक्षण देने के लिए विभिन्न राज्यों में केन्द्रीय सिविल डिफेन्स प्रशिक्षण केन्द्र स्थापित किए गए थे। प्रशिक्षण में व्यक्तिगत और साथ ही टीम प्रशिक्षण शामिल हैं। आजादी के बाद, सिविल रक्षा प्रशिक्षण का कार्य 1962 के बाद ही पुनर्जीवित किया गया।

होम गार्ड भर्ती की सूचना

हाल ही कि समाचार खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश होम गार्ड स्वयंसेवकों के खाली पड़े लगभग 1268 पदों के लिए लखनऊ, गाज़ियाबाद, वाराणसी और नोएडा में होंगी भर्तियां। इस बार होम गार्ड की शारीरिक दक्षता की परीक्षा के लिए आरएफआईडी चिप के आधार पर दौड़ और वीडियोग्राफी करवाई जाएगी। इस बार उत्तर प्रदेश में होमगार्ड के आवेदन के लिए शैक्षणिक योग्यता 12वीं करने का प्रस्ताव सरकार को भेजा गया है अभी तक होम गार्ड के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 10वीं है।

Leave a Reply