सही करियर का चुनाव कैसे करें

बचपन सबकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत पल होता है। सबको लगता है कि कभी बचपन खत्म ही न हो। क्योंकि बचपन में न तो कोई टेंशन होती है। न ही कोई करियर मार्गदर्शन को लेकर कंफ्यूजन होती है। लेकिन कोई भी प्रकृति के विरुध नहीं जा सकता है। और प्रकृति के नियम अनुसार हम सबको करियर का चुनाव कैसे करे सवाल का सामना एक दिन करना पड़ता है। और करियर कैसे बनाये वाले पड़ाव पर आकर हर किसी को कंफ्यूजन होती है कि अपना करियर कैसे बनाये। और कौन से करियर विकल्प को चुने। खराब चॉइस किसी का भी करियर बेकार कर सकती है। वहीं एक अच्छी चॉइस किसी की भी जिंदगी खुशहाल बना सकती है। यहां पर हम आपके लिए करियर सलाहकार की तरह काम करेंगे। इस आर्टिकल से आपको पता चलेगा कि करियर कैसे बनाये, करियर के चुनाव कैसे करें। करियर गाइडेंस इन हिंदी आप यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

सही करियर का चुनाव कैसे करें

हर कोई जब करियर के चुनाव के पड़ाव में आता है। तो उन्हें समझ नहीं आता कि करियर का चुनाव कैसे करें। हर कोई अलग- अगल समय पर करियर विकल्प के बारे में सोचता है। ज्यादातर लोग कॉलेज खत्म होते ही करियर कैसे बनाये के बारे में सोचते हैं। कुछ लोग ऐसे भी होते है जो नौकरी कर रहे हैं। लेकिन बस पैसे कमाने के लिए वो उस जॉब को कर रहे हैं। करियर का मतलब होता है जिस काम को करने में आपका मन लगे। साथ ही जिस काम से कभी आपका मन न उतरे और रोज़ उस काम को करने का उत्साह रहे। उस काम में करियर बनाया जाएं तो बात ही कुछ और हो जाएगी। लेकिन दुनिया की भाग दौड़ में हर कोई पैसे कमाने में लगा है। इसलिए सही करियर मार्गदर्शन करना जरुरी है। यहां से आप अपना करियर कैसे बनाये और करियर गाइडेंस इन हिंदी सवाल का जवाब यहां ढूढ़ सकते हैं।

इन सुझाव से करियर की कंफ्यूजन को करें दूर

करियर कैसे बनाये सवाल का जवाब ढूंढने की कोई उम्र नहीं होती है। करियर के चुनाव का जवाब किसी भी उम्र में ढूढ़ा जा सकता है। जिस दिन इंसान को अपनी रुचि का पता चलेगा। उस दिन से हर कोई अपने करियर के बारे में सोच सकता है। यह कैरियर गाइड सभी के लिए है। जो समझ नहीं पा रहे हैं कि सही करियर के चुनाव में किन बातों का ध्यान रखें।

  • अपने शौक के बारे में विचार करें  

जरुरी नहीं की डॉक्टर या इंजीनियर बनने को ही अच्छा करियर कहा जाएगा। करियर उसे कहा जाता है जिस काम को करने में आपके मन को शांति मिले। और मन को शांति र्सिफ उसी काम से मिलेगी जिस काम को आप पंसद करते हैं। इसलिए करियर के चुनाव के लिए आप सबसे पहले अपने शोक यानि की हॉबीज के बारे में सोचें। कई लोग अपने शोक से ही अपना करियर बनाने के तरीके ढूंढ लेते हैं। और उसमें वो लोग काफी सफलता भी प्राप्त करते हैं।

जैसे कि अगर आपको एग्रीकल्चर में शौक है तो आप इसमें भी करियर बनाने के तरीके ढूंढ सकते हैं। आपको पेंटिंग करने का शोक है तो आप अपनी पेंटिंग का एग्जीबिशन कर सकते हैं। अगर आप क्रिएटिविटी में अच्छे हैं तो आपके पास करियर बनाने के अनगिनत करियर विकल्प हैं। जैसे कि आप इंटिरियर डिजाइनर का करियर विकल्प चुन सकते हैं। या फिर इवेंट मैनेजमेंट का भी आपके पास एक अच्छा करियर मार्गदर्शन है। इससे आप अपने शोक से भी जुड़े रहेंगे और अच्छी खासी कमाई भी हो जाएगी।

  • करियर काउंसलर से ले सुझाव 

कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनको करियर काउंसलिंग की जरुरत पड़ती है। आप किसी करियर मार्गदर्शन संस्था में भी जा सकते हैं। वो लोग करियर सलाहकार के पास जा सकते हैं। और उनको अपने करियर को लेकर जो दिक्कत आ रही है वो बता सकते हैं। करियर काउंसलर से बात करने से आपको करियर का चुनाव कैसे करे के लिए सही सलाह मिलेगी। साथ ही आपको करियर विकल्प के बारे में भी पता चलेगा जिनका आपको अंदाजा भी नहीं होगा। लेकिन यह बात भी ध्यान रखें कि करियर सलाहकार से आपको र्सिफ सलाह मिल सकती हैं। करियर के लिए क्या चुनना है और आपके लिए क्या सही होगा। उसका करियर मार्गदर्शन र्सिफ आप ही फैसला ले सकते हैं।

सफलता हमारा परिचय दुनिया को करवाती है। और असफलता हमें दुनिया का परिचय करवाती है।

  • प्रोफेशनल लोगों से बता करें

अगर आपके पास कई करियर विकल्प हैं। और आप अपने लिए सही करियर विकल्प नहीं चुन पा रहे हैं। इस समस्या में आप किसी प्रोफेशनल इंसान से बात कर सकते हैं। जो करियर गाइड बनकर आपकी मदद कर सकते हैं। उन लोगों से आप खुद जाकर मिलें। और उनके साथ करियर काउंसलिंग भी कर सकते हैं। या फिर फोन पर भी बात कर सकते हैं। आप उन लोगों से अपने करियर मार्गदर्शन के बारे में पूछ सकते हैं। इससे आपको उनकी लाइफ के बारे में पता चलेगा। और उस करियर की अच्छाई और बुराई दोनों पता चलेंगी।

  • इंटर्नशिप करें

अगर आपको अपने करियर को लेकर कंफ्यूजन है तो आप पहले इंटर्नशिप कर सकते हैं। इंटर्नशिप का महत्तव आपको तभी पता चलेगा। साथ ही आपको पता चलेगा की आपकी प्रोफेशनल लाइफ कैसी होगी। फिल्ड में काम करने से आपको अच्छी और सच्ची करियर गाइड मिलेगी। और आपको पता चलेगा कि भविष्य में आपका करियर मार्गदर्शन आपको कहां ले जाएगा। इंटर्नशिप में आप वहां के अनुभवी लोग आपके लिए करियर सलाहकार बन सकते हैं। अगर आप अपनी इंटर्नशिप से खुश हैं तो उसी फिल्ड में अपना करियर बनाएं। नहीं तो आप अपना करियर अॉपशन बदल सकते हैं। इसलिए इंटर्नशिप आपकी कंफ्यूजन को दूर कर देगी। और अपने करियर का भविष्य अच्छे से समझ पाएंगे।

  • वालंटियर बनें

कुछ लोग अपने करियर को लेकर बहुत ज्यादा कंफ्यूजन में रहते हैं। उन लोगों के करियर मार्गदर्शन के लिए इंटर्नशिप करना एक लंबी प्रक्रिया हो सकती है। जिन लोगों को इंटर्नशिप नहीं करनी है। और सही करियर को जल्द से जल्द चुनना है। वो लोग वालंटियर बनकर करियर की कंफ्यूजन को दूर कर सकते हैं। वालंटियर बनने से आपको उस फिल्ड के बारे में पता चल पाएगा। जिससे आप अपने करियर मार्गदर्शन को देख सकते हैं। और आपके लिए क्या सही रहेगा उसका चुनाव भी कर सकेंगे। अगर आपके पास कई करियर अॉपशन हैं तो आप उन सभी के लिए वालंटियर बन सकते हैं। वालंटियरिंग करने के लिए वैसे भी समय नहीं लगता है। इसलिए आप एक से ज्यादा के लिए वालंटियर बन सकते हैं।

  • अगर आप छात्र हैं तो क्या करियर चुने

अगर आप 12वीं के बाद करियर के बारे में सोच रहे हैं तो एक बात का खास ध्यान रखें। इस पड़ाव पर कोई भी स्पेसिफिक करियर न चुने। क्योंकि अभी आपके पास कई करियर अॉपशन आएंगे। जैसे कि साइंस में करियर, गणित में करियर, जीव विज्ञान में करियर, आर्ट्स में करियर आदि। जिन करियर के बारे में आपको पता भी नहीं है उन करियर विकल्प से भी आप रुबरु होंगे। इसलिए अभी से कोई भी फिक्स करियर न चुने। आप पार्ट टाइम जॉब कर सकते हैं। लेकिन अभी आपको अपने करियर मार्गदर्शन और अपने आपको जानना होगा। जैसे- जैसे आप आगे बढ़ेंगे आपके सामने कई करियर अॉपशन आएंगे। और आपका मन कभी भी बदल सकता है। इसलिए अभी आप र्सिफ नई- नई चीजों को एक्सप्लोर करें।

करियर को चुनते समय इन बातों का भी रखें ध्यान

  • किसी भी के लिए सेटल न हो

अगर आप करियर के चुनाव को लेकर बहुत ज्यादा परेशान हैं। और काफी समय से समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें। उस समय लगता है कि कुछ भी काम मिल जाए तो हम कर लेंगे। लेकिन ऐसा आपको बिल्कुल नहीं सोचना है। इस समय ऐसा सोचना जाहिर सी बात है। लेकिन यह करियर मार्गदर्शन का फैसला आपकी जिंदगी को बदल सकता है। सही चीजों को आने में थोड़ा समय लगता है। इसका मतलब यह नहीं कि आप किसी भी अॉपशन के लिए सेटल हो जाएं। चाहे थोड़ा समय लगे लेकिन आप वही करियर चुने जिसमें आप अपने आपको आगे बढ़ते हुए देखना चाहते हैं। इसलिए सही करियर और सही वक्त का इंतजार करें।

असंभव कुछ भी नहीं है।

  • करियर को बदल सकते हैं

कई लोग ऐसे होते हैं जो अच्छी खासी नौकरी करने के बाद भी खुश नहीं होते हैं। क्योंकि वो लोग अपने पसंद का काम नहीं कर रहे होते हैं। और उनको लगता है कि अब यही उनका करियर मार्गदर्शन है। लेकिन ऐसा नहीं है। आप अपना करियर बदल सकते हैं। कोई भी किसी भी करियर को बदल सकता है। हमने ऐसी सच्ची कहानियां भी सुनी हैं जहां बड़ी कंपनी की जॉब छोड़कर लोग अपने दूसरे करियर के चुनाव को बदल लेते हैं। क्योंकि अपनी पसंद से काम करने का मजा ही कुछ और होता है। और सबसे बड़ी बात इस काम को करने में मन की शांति मिलती है।

  • डर को कहो बाए- बाए

सबको एक बड़ा घर, गाड़ी और बैंक बैलेंस चाहिए होता है। लेकिन उसे पहले यह जरुरी होता है कि यह सब किस करियर के चुनाव से मिल रहा है। और कहां से आ रहा है। क्या जो हम काम कर रहे हैं उस काम से खुश हैं। अगर आप खुश नहीं हैं तो सबसे पहले आपको अपने सही करियर के बारे में समझना होगा। और यह बात आपको आपके अलावा कोई नहीं समझा सकता है। इस फैसले को लेने के लिए आपको अपने डर को भगाना होगा। यानि की उसे बाए- बाए बोलना होगा। डर इस बात का कि लोग क्या कहेंगे या फिर कम पैसों में गुजारा कैसे होगा। जिस दिन आप इस डर को निकाल देंगे। उस दिन आप अपने सपनों को पाने की पहली सीढ़ी पर चढ़ जाएंगे।

  • प्रायरिटीज का रखें ध्यान

करियर चुनने से पहले अपनी प्रायरिटीज का भी ध्यान रखें। जैसे कि जो लोग अपने परिवार के साथ ही रहना चाहते हैं। उन लोगों को वो करियर नहीं चुनना चाहिए जिसमें उन्हें घर से दूर जाना पड़े। जो लोग घर से दूर रहने के बाद अपने करियर पर फोकस नहीं कर पा रहे हैं। उनका घर से दूर रहने का कोई फायदा नहीं है। इसलिए करियर को चुनते समय अपनी प्रायरिटीज का भी ध्यान रखें। जिससे आपके करियर पर किसी और चीज का प्रभाव न पड़े। और आप अपने करियर पर अच्छे से ध्यान दे सकें। और उसमें सफलता प्राप्त करें।

अपने विचार बताएं।