परीक्षा में तेज कैसे लिखें

10वीं और 12वीं की बोर्ड की परीक्षाएं जल्द ही शुरू होने वाली हैं। जैसे-जैसे परीक्षाओं के दिन नजदीक आ रहे हैं स्टूडेंट्स की चिंताएं भी बढ़ने लगी हैं। सभी स्टूडेंट्स परीक्षाओं में अच्छे अंकों से पास होने के लिए जी जान से मेहनत कर रहे हैं। लेकिन फिर भी स्टूडेंट्स के मन मेें परीक्षाओं का डर बना हुआ है। किसी स्टूडेंट्स को जल्दी से याद नहीं हो पाता तो किसी को समझने में देर लगती है। कुछ स्टूडेंट्स ऐसे भी होते हैं जो समझ भी जल्दी जाते हैं और उन्हें याद भी जल्दी हो जाता है। लेकिन उनकी राइटिंग स्पीड तेज नही होती। इसलिए वो लिखने में पीछे छूट जाते हैं। ऐसे में जो स्टूडेंट पढ़ाई में कमजोर होता है और उसकी लिखने में स्पीड तेज होती है वो इसका पूरा फायदा उठा लेता है। वह अपने से होशियार स्टूडेंट्स से आगे निकल जाता है। जो बच्चे पढ़ाई में तेज होते हैं उन्हें इस बात का बुरा लगता है और वो सोचते हैं कि उनसे पढ़ाई में कमजोर बच्चे भी उनसे आगे हैं। जिन बच्चों की लिखने में स्पीड तेज नहीं होती उनके परीक्षा में प्रश्न भी छुट जाते हैं ।  ऐसे बच्चे लिखने में जल्दबाजी करते हैं और उनकी राइटिंग खराब हो जाती है। राइटिंग खराब होने की वजह से अर्थ का अनर्थ हो जाता है।  जिसकी वजह से उन्हें परीक्षा में कम मार्क्स मिलते हैं।

ये भी पढ़ें : 12वीं के बाद क्या करें आगे की पढ़ाई

ऐसे बच्चे जिनकी राइटिंग स्पीड कम है उन्हें परेशान होने की बिल्कुल जरूरत नहीं। हम अपने आर्टिकल में आपको राइटिंग से जुड़े कुछ ऐसे महत्त्वपूर्ण टिप्स बताएंगे जो आपकी राइटिंग स्पीड तेज करने में मदद करेंगे। परीक्षा में तेज कैसे लिखें TOP 5 Tips जानने के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते हैं।

परीक्षा में तेज कैसे लिखें TOP 5 Tips

Tip :- 1. लिखावट पर ध्यान दें

जिन बच्चों का दिमाग पढ़ने, समझने और याद करने में तेज होता है उन्हें इसके साथ साथ अपने लेखन पर भी ध्यान देना चाहिए। राइटिंग ऐसी हो कि अगर कोई दूसरा उसे पढ़े तो आसानी से समझ सके। लिखते समय शब्दों की समझ होना जरूरी है। सही शब्द ही सही लेखन को दर्शाता है। स्टूडेंट्स लिखते समय अपने राइटिंग को साफ रखें।

Tip :- 2. लिखने की रोज प्रेक्टिस करें

स्टूडेंट्स को अपनी राइंटिंग स्पीड तेज करने के लिए लिखने की रोज प्रेक्टिस करनी चाहिए। बच्चों को रोज कुछ न कुछ जरूर लिखना चाहिए।  स्टूडेंट्स रोज एक पेज किसी न किसी विषय पर जरूर लिखें। कुछ बच्चों को यह समझ में नहीं आता कि वह किस विषय पर लिखें। उनके लिए सबसे आसान तरीका यह है कि वह अपनी दिनचर्या पर रोज एक पेज का आर्टिकल लिखें। लिखने की रोज प्रेक्टिस करने से उनकी लिखने की स्पीड बढ़ेगी और लेखन में भी सुधार आएगा।

Tip :- 3. लिखकर याद करें

स्टूडेंट्स जो कुछ भी पढ़ते और याद करते हैं उसे लिखकर जरूर देखें। ऐसा करने से उन्हें दो फायदे होंगे। पहला, उनके लेखन में तेजी से सुधार आएगा और राइंटिग स्पीड बढ़ेगी।  दूसरा, जो कुछ उन्होंने याद करके लिखा है वह तेजी से दिमाग में बैठ जाएगा और लंबे समय तक उन्हें याद भी रहेगा।स्टूडेंट्स परीक्षा में भी तेजी से लिख सकेंगे।

Tip :- 4. टाइम मैनेजमेंट करें

आप जो कुछ भी लिखने जा रहे हैं उसके लिए एक समय निर्धारित कर लें। कोशिश यही करें कि जो आपने अपने लेखन के लिए समय सीमा तय कर रखी है उतने ही समय में अपने लेखन को पूरा करें। अगर आपने लिखते समय टाइम मैंनेजमेंट करना सीख लिया तो आपको परीक्षा में भी कोई परेशानी नहीं होगी। क्योंकि हर परीक्षा का एक निर्धारित समय होता। जितना समय आपकी परीक्षा के लिये निर्धारित किया गया होगा आप उतने ही समय में अपना पेपर पूरा कर लेंगे।

Tip :- 5. अपने लिखने पर भरोसा रखें

किसी भी टारगेट को पूरा करने के लिए हमें सबसे पहले जिस चीज की जरूरत होती है वो होता है हमारा आत्मविश्वास। अगर हमें खुद पर भरोसा है तो हम कुछ भी हासिल कर सकते हैं। यही बात हमारे लेखन को सुधारने के लिए भी लागू होती है। अगर हमनें ठान लिया कि चाहें कुछ भी हो जाए हमें अपनी लिखने की स्पीड बढ़ानी और हमें अपने आप पर भरोसा है तो फिर हमें कोई नहीं रोक सकता।

अपने विचार बताएं।