कई छात्रों की चाह होती है कि वो आईआईटी अथवा एनआईटी कॉलेजों में में नामांकन प्राप्त करे। आईआईटी अथवा एनआईटी कॉलेजों से डिग्री प्राप्त करने वाले छात्रों को भारत ही नहीं भारत के बहार भी करोड़ों रुपए की पैकेज पर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। आईआईटी और एनआईटी कॉलेजों से इंजिनीरिंग करने के लिए छात्रों को कड़ी मेहनत करनी होती है। इसमें नामांकन प्राप्त करना बहुत कठिन भी है। इन कॉलेजों में नामांकन प्राप्त करने के लिए छात्रों को जेईई, गेट, कैट, जैम, सीईईडी आदि परीक्षाएं देनी होती हैं। आईआईटी और एनआईटी की अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

यह भी पढ़ें : जाने कैसे शुरू करें जेईई मुख्य 2019 की तैयारी। 

आईआईटी और एनआईटी कॉलेज

सबसे पहली इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) कॉलेज की स्थापना खरगपुर में वर्ष 1951 में की गई थी। इसके कुछ वर्षों बाद 1958 में आईआईटी बॉम्बे और 1959 में आईआईटी मद्रास की स्थापना की गई। वर्ष 2018 तक यह संख्या बढ़ कर 23 हो गई है। सभी संस्थान 23 अलग – अलग राज्यों में स्थापित है। वर्ष 2018 में सभी आईआईटी को मिला कर अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम में कुल 11,279 सीटें हैं। सभी आईआईटी कॉलेजों में नामांकन प्राप्त करने की एक सामान्य प्रक्रिया है।

यह भी पढ़ें : जेईई एडवांस 2019 की जानकारी यहां से प्राप्त करें। 

आईआईटी में नामांकन की प्रक्रिया

स्नातक स्तर के कोर्स में नामांकन के लिए जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) आयोजित की जाती है। यह परीक्षा 2 भागों में होती है। पहला भाग है जेईई मुख्य और दूसरा भाग है जेईई एडवांस। जेईई मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण उम्मीदवार ही जेईई एडवांस में शामिल हो सकते हैं। संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) एडवांस की परीक्षा में उत्तीर्ण हुए उम्मीदवार ही आईआईटी में नामांकन प्राप्त कर सकते हैं। यह परीक्षा बहुत ही कठिन मानी जाती है। वहीं स्नातकोत्तर स्तर के कोर्सेज में नामांकन प्राप्त करने के लिए छात्रों को ग्रेजुएट एप्टीटुड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) परीक्षा देनी होती है। आईआईटी द्वारा संचालित कुछ कोर्सेज में नामांकन के लिए कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट), जॉइंट एडमिशन टेस्ट फॉर एम.एससी (जैम) और कॉमन एंट्रेंस एग्जामिनेशन फॉर डिज़ाइन (सीईईडी) परीक्षा आयोजित की जाती है।

आईआईटी कोर्स

आईआईटी कॉलेजों में स्नातक स्तर और सनातकोत्तर स्तर की कोर्सेज कराई जाती है। स्नातक स्तर की कोर्स में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बी.टेक) कोर्स सबसे ज्यादा प्रचलित है। इस कोर्स को करने के बाद छात्र इंजीनियर की डिग्री प्राप्त करते हैं। यह 4 वर्षों का कोर्स है। इसके साथ ही कई पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज, बैचलर – मास्टर ड्यूल डिग्री कोर्सेज और डॉक्टरेट डिग्री के कोर्सेज भी आयोजित किए जाते हैं।

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज की सूची 

  • केमिकल इंजीनियरिंग
  • सिविल इंजीनियरिंग
  • कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग  (पावर)
  • इंजीनियरिंग फिजिक्स
  • मकेनिकल इंजीनियरिंग
  • प्रोडक्शन एंड इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग
  • टेक्सटाइल इंजीनियरिंग

पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज की सूची 

आईआईटी कॉलेजों में निम्न पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज कराए जाते हैं।

  • मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी (एम.टेक)
  • मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए)
  • मास्टर ऑफ साइंस (एम.एससी)
  • मास्टर ऑफ डिज़ाइन (एम.डीईएस)
  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (पीजीडीआईटी)
  • मास्टर इन मेडिकल साइंस एंड टेक्नोलॉजी
  • मास्टर ऑफ सिटी प्लानिंग
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स
  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इटैलेक्टुअल प्रॉपर्टी लॉ
  • पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मेरीटाइम ऑपरेशन एंड मैनेजमेंट
  • एम.एस प्रोग्राम (रिसर्च)

बैचलर – मास्टर ड्यूल डिग्री कोर्स की सूची 

  • बी.टेक और एम.टेक की ड्यूल डिग्री प्रोग्राम

डॉक्टरेट डिग्री कोर्स की सूची 

  • डॉक्टर ऑफ फिलॉसोफी डिग्री (पीएचडी)

आईआईटी कॉलेज की सूची निम्न प्रकार है 

कॉलेज के नाम  राज्य 
आईआईटी खड़गपुर पश्चिम बंगाल
आईआईटी बॉम्बे महाराष्ट्र
आईआईटी कानपुर उत्तर प्रदेश
आईआईटी मद्रास तमिल नाडु
आईआईटी दिल्ली दिल्ली
आईआईटी गुवाहाटी असम
आईआईटी रुड़की उत्तराखंड
आईआईटी रोपड़ पंजाब
आईआईटी भुवनेश्वर ओडिशा
आईआईटी गांधीनगर गुजरात
आईआईटी हैदराबाद तेलंगाना
आईआईटी जोधपुर राजस्थान
आईआईटी पटना बिहार
आईआईटी इंदौर मध्यप्रदेश
आईआईटी मंडी हिमाचल प्रदेश
आईआईटी बीएचयू (वाराणसी) उत्तर प्रदेश
आईआईटी पलक्कड़ केरल
आईआईटी तिरुपति आंध्र प्रदेश
आईआईटी धनबाद झारखण्ड
आईआईटी भिलाई छत्तीसगढ़
आईआईटी गोवा गोवा
आईआईटी जम्मू जम्मू और कश्मीर
आईआईटी धारवाड़ कर्नाटक

एनआईटी कोर्स

एनआईटी कॉलेजों में स्नातक स्तर, सनातकोत्तर स्तर के साथ डॉक्टरेट कोर्सेस कराई जाती है। स्नातक स्तर की कोर्स में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बी.टेक) कोर्स सबसे ज्यादा प्रचलित है। इस कोर्स को करने के बाद छात्र इंजीनियर की डिग्री प्राप्त करते हैं। यह 4 वर्षों का कोर्स है। पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज को  करने में दो वर्ष लगते हैं। बैचलर – मास्टर ड्यूल डिग्री कोर्सेज और डॉक्टरेट डिग्री के कोर्सेज भी आयोजित किए जाते हैं।

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज की सूची 

  • बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर
  • बैचलर ऑफ साइंस

पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज की सूची 

  • मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी (एम.टेक)
  • मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए)
  • मास्टर ऑफ साइंस (एम.एससी)
  • मास्टर ऑफ कंप्यूटर ऍप्लिकेशन्स
  • एम.एस. प्रोग्राम (रिसर्च)

बैचलर – मास्टर ड्यूल डिग्री कोर्स की सूची 

  • बी.टेक और एम.टेक की ड्यूल डिग्री प्रोग्राम

डॉक्टरेट डिग्री कोर्स की सूची 

  • डॉक्टर ऑफ फिलॉसोफी डिग्री (पीएचडी)

एनआईटी कॉलेज की सूची निम्न प्रकार है 

कॉलेज के नाम  राज्य 
एनआईटी इलाहाबाद उत्तर प्रदेश
एनआईटी भोपाल मध्य प्रदेश
एनआईटी कालीकट केरल
एनआईटी हमीरपुर हिमाचल प्रदेश
एनआईटी जयपुर राजस्थान
एनआईटी जालंधर पंजाब
एनआईटी जमशेदपुर झारखण्ड
एनआईटी कुरुक्षेत्र हरियाणा
एनआईटी नागपुर महाराष्ट्र
एनआईटी राउरकेला ओडिशा
एनआईटी सिल्चर असम
एनआईटी कर्नाटक कर्नाटक
एनआईटी वारंगल तेलंगाना
एनआईटी दुर्गापुर पश्चिम बंगाल
एनआईटी श्रीनगर जम्मू और कश्मीर
एनआईटी सूरत गुजरात
एनआईटी त्रिची तमिलनाडु
एनआईटी पटना बिहार
एनआईटी रायपुर छत्तीसगढ़
एनआईटी अगरतला त्रिपुरा
एनआईटी अरुणाचल प्रदेश अरुणाचल प्रदेश
एनआईटी दिल्ली दिल्ली
एनआईटी गोवा गोवा
एनआईटी मणिपुर मणिपुर
एनआईटी मेघालय मेघालय
एनआईटी मिजोरम मिजोरम
एनआईटी नागालैंड नागालैंड
एनआईटी पुडुचेर्री पुडुचेर्री
एनआईटी सिक्किम सिक्किम
एनआईटी उत्तराखंड उत्तराखंड
एनआईटी आँध्रप्रदेश आँध्रप्रदेश
LPUNEST 2019 Apply Now!!

अपने विचार बताएं।