भारतीय वायुसेना परीक्षा परिणाम 2019 की घोषणा 21 मई, 2018 को यानी कि आज गई है। चयन परीक्षा पूरी होने के बाद, परिणाम तैयार किया गया है। और यह सभी एयरमेन चयन केंद्रों पर प्रदर्शित किया जा रहा है। चयन सूची पीडीएफ के रूप में है जिसमें परीक्षा के अगले चरण के लिए योग्य उम्मीदवारों और निर्देशों के बारे में विवरण शामिल है। लिखित परीक्षा में उपस्थित उम्मीदवार भारतीय वायुसेना के वायुसेना के परिणाम 2019 की जांच कर सकते हैं। अभ्यर्थियों को नीचे दिए गए लेख से भारतीय वायुसेना के वायुसेना परिणाम 2019 के सभी विवरणों की जांच कर सकते हैं।

यहाँ से देखें – एयरफोर्स X-Y ग्रुप – II परीक्षा परिणाम।

भारतीय वायु सेना भर्ती 2019 समूह X और Y रिजल्ट (indian air force group x-y result 2019)

भारतीय वायु सेना एयरमेन 2019 चयन परीक्षा का नतीजा आधिकारिक पोर्टल airmenselection.gov.in पर ऑनलाइन प्रकाशित किया जाएगा। एयरमेन परीक्षा और परिणाम घोषणा के बारे में महत्वपूर्ण तिथियां नीचे दी गई हैं।

आयोजन तिथियां
चयन परीक्षा की तिथि 03, 04, 05 और 06 मई 2018
चयन परीक्षण का परिणाम 21 मई 2018
पीएसएल सूची की घोषणा 31 अक्टूबर 2018

परिणाम: भारतीय वायुसेना के परिणाम की जांच के लिए यहां क्लिक करे।

आधिकारिक वेबसाइट : careerairforce.nic.in

कैसे करें भारतीय वायुसेना एयरमेन परिणाम की जांच

परीक्षा में उपस्थित उम्मीदवार नीचे दिए गए सरल कदम का पालन करके अपने भारतीय वायु सेना के एयरमेन परिणाम 2019 की जांच कर सकते हैं।

  • आधिकारिक वेबसाइट www.airmenselection.gov.in पर जाएं या सीधे लिंक पर क्लिक किया गया है।
  • भारतीय वायुसेना के एयरमेन परिणाम 2019 पर नेविगेट करने वाले लिंक पर क्लिक करें।
  • आवश्यक विवरण भरें और जमा करें।
  • विवरण जमा करने के बाद, चयन परीक्षा का उम्मीदवार प्रदर्शित होंगे।
  • इसे डाउनलोड करें और सहेजें।

नोट: अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है कि वे अपने परिणाम को प्रिंट करें और भविष्य के संदर्भों के लिए इसे सुरक्षित रूप से रखें।

अनंतिम चयन सूची (पीएसएल)

पीएसएल चयन परीक्षण पूरा होने के बाद तैयार किया जाएगा और यह सभी एयरमेन चयन केंद्रों (एएससीएस) और वेबसाइट www.airmenselection.cdac.in पर 31 अक्टूबर 2018 को प्रदर्शित किया जाएगा। पीएसएल में उम्मीदवारों के नाम परीक्षा में उम्मीदवारों के प्रदर्शन और चिकित्सा फिटनेस पर निर्भर करता है। अस्थायी चयन सूची (पीएसएल) में नाम शामिल करने से स्वचालित नामांकन की गारंटी नहीं मिलती है।

अपने विचार बताएं।