यूपी टीईटी आंसर की 2018

जेईई की परीक्षा देने वालो छात्रों के लिए एक खुशखबरी है। शिक्षा मंत्रालय का ऐलान की जेईई परीक्षा साल में दो बार ही होगी। हाल ही में जेईई की परीक्षा में बदलाव के कारण छात्रों में आक्रोष साफ़ देखा जा सकता था। लेकिन छात्रों की दिक्क्तों को मानव संसांधन विकास मंत्रायल ने सुन ही लिया एक तरह से कहा जाये की बदलाव की मुहिम काम आ ही गई। इसके तहत जेईई मुख्य परीक्षा अब साल में दो बार आयोजित होगी। एनटीए ने इसे लेकर परीक्षा कार्यक्रम भी जारी कर दिया है। शिक्षा मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने घोषणा की थी की जेईई की परीक्षा साल में दो बार ही होनी चाहिए। इस घोषणा पर अमल थोड़ी देर से हुआ लेकिन छात्रों के हित के लिए सफल तो रहा यह बहुत ही बड़ी बात है।

आपको बता दें की अंतर्राष्ट्रीय मानक के तहत परीक्षाएं एक वर्ष में 2 बार आयोजित होनी चाहिए। इस दौरान उन्होंने नीट और जेईई मुख्य परीक्षाओं को भी साल में दो बार कराने की घोषणा की। साथ ही कहा कि इससे उन छात्रों के लिए आसानी होगी जिन्हें किन्हीं कारणवश पेपर खराब होने या न दे पाने के चलते पूरे साल भर इन परीक्षाओं का इंतजार करना पड़ता है।

केंद्र सरकार ने एक अहम फैसला लेते हुए। कहां की छात्रों को और अच्छी सुविधा देने के लिए प्रैक्टिस के लिए देशभर में 2600 से ज्यादा टेस्ट प्रैक्टिस सेंटर बनाए है। इनमें बेहतरीन इंजीनियरिंग कालेज और स्कूलों के कम्प्यूटर लैब शामिल है।

जेईई की परीक्षा की महत्त्वपूर्ण तिथियां 

  • जेईई की पहली परीक्षा 6 से 20 जनवरी 2019  के बीच आयोजित की जायगी। उम्मीदवार समय रहते अपनी तैयारी कर लें।
  • जेई की दूसरी परीक्षा 6 से 20 अप्रैल 2019 के बीच आयोजित की जाएगी। दोनों परीक्षा होने के बाद जल्दी ही इसके परिणाम घोषित कर दिए जायेंगे। इस बार आशा है की जेईई की परीक्षा पिछले साल से अधिक उम्मीदवार देंगे। इसलिए यहां परीक्षा इस साल बहुत महत्पूर्ण देखी जा रही है

अपने विचार बताएं।