इंजीनियरिंग कॉलेजों एवं आईआईटी में दाखिले के लिए प्रति वर्ष आयोजित होने वाले ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन(जेईई) में बड़े बदलाव किये गए हैं। अब जेईई मेन 2019 की परीक्षा इन्हीं बदलावों को ध्यान में रखकर आयोजित करायी जाएगी। जेईई मुख्य 2019 में जो बदलाव किए गये हैं उनमें पहला बदलाव परीक्षा की रैंकिंग से संबंधित है। पहले नियम के अनुसार छात्र द्वारा परीक्षा में अर्जित किए गये अंकों को आधार बनाया जाता था, लेकिन अब छात्र के पर्सेंटाइल स्कोर को आधार माना जाएगा।

इसके अलावा दूसरा बदलाव परीक्षा के माध्यम और फॉर्मेट में किया गया है। अब जेईई मेन की परीक्षा कम्प्यूटर आधारित होगी और परीक्षा का आयोजन साल में दो बार होगा। यह परीक्षा कई दिनों तक चलेगी और प्रतिदिन कई सत्र आयोजित होंगे और नैशनल टेस्टिंग एजेंसी इस परीक्षा का आयोजन कराएगी।

नया परीक्षा पैटर्न इस प्रकार है-

  • यह परीक्षा कम्प्यूटर आधारित होगी।
  • परीक्षा का आयोजन साल में दो बार (जनवरी और अप्रैल) होगा।
  • छात्र दोनों बार आयोजित होने वाली परीक्षा में बैठ सकते हैं।
  • परीक्षा का आयोजन 14 दिनों तक होगा और इसके प्रतिदिन कई सत्र होंगे।

परीक्षा में बदलाव का उद्देश्य

परीक्षा के दौरान होने वाली धोखाधड़ी और गड़बड़ी को कम करने के लिए इस तरह के बदलावों को अंजाम दिया गया है। नैशनल टेस्टिंग एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि हर सत्र में छात्रों को प्रश्न पत्र के बिल्कुल नये सेट्स दिये जाएंगे, इनमें शामिल किये गए प्रश्न पुराने सेट के प्रश्नों से एकदम अलग होंगे। उन्होंने आगे कहा कि हर सत्र में छात्रों से समान कठिनाई के प्रश्न पूछना हमारी कोशिश रहेगी, लेकिन किसी सत्र में कठिन तो किसी सत्र में सरल प्रश्न भी हो सकते हैं। हमने इन सब कठिनाईयों से निपटने की पूरी तैयारी कर ली है। अधिकारी ने बताया कि हो सकता है कि किसी सत्र में ज्यादा कठिन सवाल पूछे गए हो ऐसे में छात्र को कम नंबर मिलने की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए हमने परसेंटाइल को आधार बनाया है, इसी के आधार पर नॉर्मलाइजेशन प्रक्रिया का इस्तेमाल किया जायेगा। इससे किसी भी छात्र को न कोई शिकायत होगी और न ही किसी छात्र के साथ अन्याय होगा।

वहीं मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि एम्स(दिल्ली) में अंडरग्रैजुएट-एमबीबीएस टेस्ट के लिए पर्सेंटाइल को आधार बनाया जाता है अब उसी प्रक्रिया को जेईई की परीक्षा के लिए किया जायेगा।

अपने विचार बताएं।