रेलवे भर्ती से जुड़ी सारी जानकारियाँ हम आपको हमेशा देते आये हैं जिससे आपको सहायता मिले अपनी परीक्षा में और आप अपनी परीक्षा में पास हो जाये उसी तरह हम इस बार भी कुछ अलग जानकारी लेकर आये हैं जिसे उम्मीदवारों को कही न कहीं जानने का मन करता है हालाँकि यह कोई बहुत महत्वपूर्ण जानकारी नहीं है पर फिर भी पता होना चाहिए की वह जिस भी पद के लिए आवेदन कर रहे हैं उसके भविष्य में पदोन्नति के कितने अवसर हैं जी हाँ आज हम आपको आरआरबी अल्प यानि लोको पायलट की सैलरी और भविष्य में पदोन्नति के अवसर बताने वाले हैं।

आरआरबी अल्प 2018 सैलरी

आरआरबी लोको पायलट के आवेदन पूरे हो चुके हैं और अब बस इंतज़ार है तो परीक्षा की तिथि का जो कि कुछ समय बाद ही घोषित कर दी जाएगी जाहिर है सभी छात्र इसकी तैयारी में लगे होंगे तो आज हम आप सब का हौसला बढ़ने के लिए ये आर्टिकल लेकर आये हैं आपको हम बताने जा रहे हैं कि जब आप लोको पायलट के पद पर भर्ती होंगे तो आपकी सैलरी क्या होगी और कुछ सालों में आप कितना आगे पहुँच सकते हैं और आपकी पदोन्नति के क्या अवसर हैं।

  • वेतनमान – 1 9, 9 00 रूपए  (7 वें सीपीसी वेतन मैट्रिक्स का स्तर 2) स्वीकार्य के रूप में भत्ते।
  • मूल वेतन के अलावा, आप विभिन्न लाभ / लाभों के हकदार भी होंगे जिनमें निम्न शामिल हैं:
    • कुल वेतन पर महंगाई भत्ता।
    • चलने वाला भत्ता (किलोमीटर की यात्रा के आधार पर)।
    • परिवहन भत्ता।
    • हाउस किराया भत्ता (यदि कोई क्वार्टर प्रदान नहीं किया जाता है)।
    • वेतन से 10% की कटौती (नई पेंशन योजना के लिए)।

आरआरबी एएलपी नौकरी प्रोफाइल

अगर आपने आरआरबी एएलपी के लिए आवेदन किया है तो आप यह जान लें कि आपको इस पद पर भर्ती होने के बाद किन ज़िम्मदेरियों को संभालना होगा अर्थात आपको क्या क्या काम करने होंगे।

  • लोकोमोटिव ठीक ट्यूनिंग।
  • एक बार देखा हुआ संकेत।
  • लोकोमोटिव की मामूली मरम्मत में भाग लेना।
  • नियमित रूप से लोकोमोटिव की दक्षता की जांच।

अब अगर हम बात करें की आप आगे भविष्य में कहाँ तक पहुंच सकते है तो आप जान लें जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता है आप इस पद पर रहकर भट पदोन्नति कर सकते हैं अगर आप काम ईमानदारी और मेहनत से करते है।

  • वेतन में वृद्धि: राजधानी लोको-पायलट के लिए 1 LPM तक या उससे अधिक
  • सटीक सेवा घंटे: ट्रेन की बढ़ोतरी की प्राथमिकता के रूप में, ट्रैक पर प्रतीक्षा समय घटता है और इसलिए लोको-पायलट ट्रैक पर सटीक 6 घंटे तक रह सकता है।
  • बेहतर इंजन: राजधानियों को भारत में सर्वश्रेष्ठ श्रेणी के इंजनों द्वारा संचालित किया जाता है। वे आरामदायक और शक्तिशाली भी हैं।

आशा करते हैं ऊपर दी गयी हुई जानकारी से आप सब को फ़ायदा होगा आप अगर रेलवे भर्ती से जुडी सारी जानकारी चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट से चेक कर सकते है।

या फिर यहाँ क्लिक करके रेलवे से जुड़ी तमाम जानकारियाँ प्राप्त कर सकते हैं। 

3 टिप्पणी

अपने विचार बताएं।