जो उम्मीदवार सीबीएसई सीटेट 2018 परीक्षा का इतंजार कर रहे थे उनका इतंजार अब खत्म हो गया गया है। आपको बता दें कि अब आपको बस तीन माह का ही और इतंजार करना करना पडेगा। “हिंदुस्तान” अखबार की खबर के अनुसार सीबीएसई सीटेट 2018 की परीक्षा इस वर्ष मई में होगी। इस परीक्षा का इतंजार 2 साल से काफी उम्मीदवार कर रहे थे। क्योंकि ये परीक्षा आखिरी बार दो साल पहले हुई थी। और जो उम्मीदवार तब सीटेट की परीक्षा नहीं दे पाए वे तब से निकली भर्ती के लिए भी आवेदन नहीं कर पाए।

मई 2018 में होगी सीटेट 2018 की परीक्षा

केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) एक परीक्षा है जो सीबीएसई द्वारा हर साल आयोजित की जाती है जिसके तहत उम्मीदवारों को कक्षा I-V के लिए प्राथमिक शिक्षक की नियुक्ति के लिए पात्रता प्रमाणपत्र और कक्षा VI-VIII के लिए उच्च प्राथमिक शिक्षक प्रमाण पत्र प्राप्त होता है। यह परीक्षा उत्तीर्ण टीजीटी, पीजीटी आदि जैसे विभिन्न शिक्षण परीक्षाओं में उपस्थित होने के लिए योग्य बनाती है।

CTET की परीक्षा में इतनी देरी क्यों हुई ये सवाल सब पूछ रहें हैं। इस सवाल के जबाव में सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि सीटेट के पाठ्यक्रम में बदलाव हो रहा है। और सीटेट के पाठ्यक्रम में बदलाव की जिम्मेदारी राष्ट्रीय शिक्षा शिक्षक परिषद (एनसीटीई) की है। पाठ्यक्रम में बदलाव का काम इस महीने में पूरा हो जाने की आशा है। साथ ही अधिकारी ने ये भी बताया कि फिर इसके बाद मार्च में साटेट के लिए सूचना जारी कर दी जाएगी। और मई के अन्त में या तो जून के शुरूआत में सीटेट की परीक्षा होगी।

सीटेट की परीक्षा 2 साल के बाद हो रही है इसका सबसे ज्यादा नुकसान दिल्ली के प्रतिभागियों को हुआ है जिनके पास एकमात्र विकलप है। दिल्ली सरकार में पिछले दिसबंर के महीने में आई शिक्षक भर्ती मामले में कैट ने प्रमुश बेंच ने हाल ही में कुछ परिक्षार्थियों को बिना सीटेट के इस आधार पर चयन प्रकिया में शामिल होने दिया क्योंकि 2 साल बाद सीटेट हो रहा है। लोकिन इन परिक्षार्थियों को मई में होने वाली सीटेट की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here