mp deled

जो उम्मीदवार शिक्षा के क्षेत्र में अपने करियर को बनाना चाहते हैं एवं भविष्य में टीचर बनना चाहते हैं ऐसे उम्मीदवार मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित कराई जाने वाली डीएलएड (डिप्लोमा इन एलेमेन्ट्री एजुकेशन) प्रवेश परीक्षा में भाग ले सकते हैं। इस परीक्षा को पास करने के बाद उम्मीदवार 2 वर्षीय डीएलएड कोर्स करने के लिए एलिजिबल हो जायेंगे। डीएलएड करने के बाद उम्मीदवार उम्मीदवार को सीटेट (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट/ CTET) या टेट (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट/ TET) परीक्षा पास करनी होती है जिसके बाद वे टीचर बनने की योग्यता प्राप्त कर लेते हैं।

मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय डीएलएड प्रवेश परीक्षा शाशकीय एवं अशासकीय दोनों प्रकार के कॉलेजों/संस्थानों के लिए आयोजित करवाता है। उम्मीदवारों को डीएलएड प्रवेश परीक्षा में भाग लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करनी पड़ती है जिसके बाद वे प्रवेश परीक्षा में भाग लेने के पात्र हो जाते हैं। उम्मीदवार इस पेज से मध्यप्रदेश डीएलएड प्रोग्राम के लिए शैक्षिक योग्यता, एलिजिबिलिटी, पाठ्यक्रम आदि सभी जानकारी हमारे पेज से प्राप्त कर सकते हैं।

एमपी डीएलएड 2018  एमपी डीएलएड 2019

मध्यप्रदेश डीएलएड

अगर आपको टीचर बनना है और आपको पढ़ाना अच्छा लगता है एवं शिक्षा के क्षेत्र में अपना करियर देख रहे हैं तो आप मध्यप्रदेश डीएलएड कोर्स में एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। मध्यप्रदेश डीएलएड कोर्स के लिए वो उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने कम से कम 12वीं को परीक्षा पास कर ली हो।  मध्यप्रदेश डीएलएड कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करनी होती है जिसके बाद उनको उनकी शैक्षिक योग्यता एवं पंजीयन के समय दर्ज़ की गई महाविद्यालयों के प्राथमिकता के अनुसार सीट उपलब्ध कराई जाएगी। मध्यप्रदेश डीएलएड से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस पेज को पूरा पढ़ सकते हैं।

मध्यप्रदेश डीएलएड योग्यता एवं मापदंड

शैक्षिक योग्यता :

  • अनारक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश अथवा समकक्ष बोर्ड से 10+2 का स्कूल सर्टिफिकेट या इसके समकक्ष परीक्षा न्यूनतम 50% अंको के साथ उत्तीर्ण की हो। प्रदेश के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों को शैक्षिक योग्यता में 05 प्रतिशत के छूट प्रदान की जाएगी।

आयु सीमा :

  • उम्मीदवार जिस वर्ष में प्रवेश लेने जा रहा है उस वर्ष की 01 जुलाई को उसने न्यूनतम आयु 17 वर्ष पूरी कर ली हो।

मध्यप्रदेश डीएलएड आवेदन प्रक्रिया

उम्मीदवारों को जानकारी दे दें कि मध्यप्रदेश डीएलएड आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से पूर्ण की जाती है। इसलिए जो उम्मीदवार डीएलएड कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं वे उनको सबसे पहले ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया में भाग लेना होगा। आवेदन पत्र भरने के साथ उम्मीदवार स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय निर्धारित की गई आवेदन फीस भरेंगे। आवेदन प्रक्रिया में उम्मीदवार आवेदन पत्र में वैलिड मोबाइल नम्बर एवं ईमेल आईडी दर्ज़ करें क्योंकि आवेदन पत्र भरते समय उनको आवेदन क्रमांक एवं पासवर्ड एसएमएस के माध्यम से उपलब्ध कराया जायेगा। उम्मीदवार को बता दें कि मध्यप्रदेश डीएलएड के आवेदन पत्र एमपी ऑनलाइन की ऑफिसियल वेबसाइट www.mponline.gov.in पर जारी किये जायेंगे।

मध्यप्रदेश डीएलएड कॉउंसलिंग

एमपी डीएलएड में एडमिशन लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया के पूर्ण होने बाद मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ़ स्कूल एजुकेशन की ओर से मेरिट के अनुसार उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जायेगा। शॉर्टलिस्टेड उम्मीदवारों को विभाग की ओर से कॉउंसलिंग लेटर जारी किया जायेगा। उम्मीदवारों को बता दें की परामर्श सत्र के लिए उन्हें पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। एमपी डीएलएड में एडमिशन के लिए उनको मेरिट लिस्ट के आधार पर परामर्श सत्र के लिए बुलाया जायेगा। काउंसिलिंग के समय उम्मीदवारों को एमपी डीएलएड के समय आवेदन करते समय जो दस्तावेज मांगे गए थे उसके साथ प्रस्तुत होना होगा। जो भी उम्मीदवार मूल दस्तावेजों को काउंसिलिंग के समय प्रस्तुत नहीं कर पाएंगे वे उम्मीदवार डीएलएड प्रवेश परीक्षा से बाहर कर दिए जायेंगे। उम्मीदवारों को सारे दस्तावेज प्रवेश प्रक्रिया के समय ही जमा कराने होंगे।

मध्यप्रदेश डीएलएड चयन प्रक्रिया

मध्यप्रदेश डीएलएड कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवारों को विभिन्न चरणों से होकर गुजरना होगा।

  • मध्यप्रदेश के विभिन्न शासकीय एवं अशासकीय कॉलेजों/ संस्थानों में डीएलएड कोर्स करने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले एमपी ऑनलाइन की ऑफिसियल वेबसाइट से  www.mponline.gov.in से आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करनी होगी।
  • आवेदन प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद मध्यप्रदेश शाशन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय की ओर से उम्मीदवार की शैक्षिक योग्यता के आधार पर शॉर्टलिस्ट किया जायेगा।
  • शॉर्टलिस्ट किये गए उम्मीदवारों को एडमिशन के अगले चरण कॉउंसलिंग एवं परामर्श के लिए बुलाया जायेगा। जिसके बाद उम्मीदवारों को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की प्रक्रिया गुजरना होगा।
  • डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया के बाद उम्मीदवारों के द्वारा एडमिशन लेने के लिए चुने गए कॉलेज या संस्थानों में सीटों की उपलब्धता एवं मेरिट लिस्ट के अनुसार प्रवेश दिया जायेगा।

सभी राज्य का डीएलएड परीक्षा यहां से देखें

राज्य डीएलएड परीक्षा
उत्तर प्रदेश यहां से देखें
बिहार यहां से देखें
राजस्थान यहां से देखें
झारखण्ड यहां से देखें
छत्तीसगढ़ यहां से देखें
मध्य प्रदेश यहां से देखें
दिल्ली यहां से देखें
हरियाणा यहां से देखें
उत्तराखण्ड यहां से देखें
हिमाचल प्रदेश यहां से देखें

डीएलएड

अपने विचार बताएं।