नीट 2019 के लिए रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख 7 दिसंबर 2018 तक रजिस्ट्रेशन संख्या में बढ़ोतरी हुई है। आपको बता दें कि नीट 2018 रजिस्ट्रेशन के मुकाबले इस साल करीब ढाई लाख अधिक छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। नीट 2018 के लिए करीबन 13 लाख छात्रों ने अपने आपको रजिस्ट्र करवाया था। वहीं नीट 2019 की बात करें तो करीब 15 लाख 76 हजार 250 छात्रों ने आखिरी तारीख तक रजिस्ट्रेशन करवाया है। यह संख्या आपको डमी फॉर्म की संख्या को हटा कर बताई गई है। डमी फॉर्म की संख्या को भी शामिल किया जाए तो रजिस्ट्रेशन की संख्या 15.50 लाख तक पहुंच सकती है। नीट 2019 की रजिस्ट्रेशन करने की आखिरी तारीख को एक हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया था।

नीट 2019 के लिए रजिस्ट्रेशन की संख्या को देखकर कहा जा सकता है कि इस बार छात्रों के बीच कॉम्पिटिशन का स्तर काफी ज्यादा होगा। नीट 2019 की रजिस्ट्रेशन संख्या में बढ़ोतरी का सबसे बड़ा कारण आयु सीमा में हुए बदलाव को कहा जा सकता है। अब से 25 साल से अधिक आयु के छात्र भी नीट के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। साल 2019 से नीट में आयु सीमा के बंधन को हटा दिया गया है। और यह बात खुद मेडिकल डिविजन काउंसलिंग एक्सपर्ट पारिजात मिश्रा ने कही है। नीट 2019 में 25 साल से अधिक आयु वाले छात्रों को भी फॉर्म भरने की अनुमति दे दी गई है।

नीट 2019 के लिए रजिस्ट्रेशन करवाने वाले छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी का एक और बड़ा कारण है। कई राज्यों में आयुष कोर्स में एडमिशन लेने के लिए नीट अनिवार्य कर दिया गया है। जिन छात्रों को आयुष कोर्स में एडमिशन लेना है उन छात्रों को नीट के जरिए ही एडमिशन मिलेगा। आयुर्वेद, होम्योपैथी आदि विभिन्न कोर्स में नीट के आधार पर ही एडमिशन मिल सकेगा। साल 2018 में कुछ राज्यों में ही आयुष कोर्स में एडमिशन लेने के लिए नीट अनिवार्य था। लेकिन इस साल से ज्यादातर राज्यों में नीट के आधार पर ही आयुष कोर्स में एडमिशन मिलेगा।

नीट 2019 के लिए एडमिट कार्ड 15 अप्रैल 2019 को जारी किए जाएंगे। छात्र आधिकारिक वेबसाइट से अपना नीट 2019 एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे। छात्रों को एडमिट कार्ड के बिना परीक्षा केंद्र में प्रवेश लेने की अनुमति नहीं मिलेगी। छात्रों को एप्लीकेशन नंबर और पासवर्ड डालना होगा। इसके बाद छात्रों को लॉगिन करना होगा। इसके बाद पूछी गई सभी जानकारी को सही से भरकर सबमिट करना होगा। जानकारी भरने के बाद छात्र एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे।

नीट 2019 की परीक्षा देने वाले छात्रों के बेसिक कांसेप्ट क्लियर होने चाहिए। साथ ही छात्रों को अपनी स्पीड पर भी ध्यान देने की जरुरत है। क्योंकि नीट 2019 की परीक्षा छात्रों को निर्धारित समय पर परीक्षा को पूरा करना होगा। सभी छात्रों को इस बात का खास ध्यान रखना होगा कि परीक्षा की तैयारी करते समय छात्र आसान प्रश्न को हल करने में कितना समय देते हैं। वहीं मुश्किल प्रश्न को हल करने में कितना समय देते हैं। इसलिए छात्र आसान प्रश्नों में समय बचाकर कठिन प्रश्नों को अपना ज्यादा समय दें। पूरे सिलेबस के लिए सभी छात्रों के लिए जरुरी है टाइम टेबल बनाना। उससे भी जरुरी है टाइम टेबल को फोलो करना।

जिन छात्रों ने फॉर्म भरते समय गलती की है उन छात्रों को अपनी गलती सुधारने का मौका मिलेगा। छात्रों को यह मौका 14 जनवरी 2019 से मिलेगा। छात्रों को यह भी बता दें कि करेक्शन करने की आखिरी तारीख 31 जनवरी 2019 रखी गई है। नीट 2019 फॉर्म में हुई गलती को सुधारने के लिए एम्स ने पोर्टल भी शुरु किया है। इस पोर्टल की मदद से छात्र अपने फॉर्म में हुई गलती को सुधार सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के दौरान हुई गलती को सही करने के लिए छात्रों को पोर्टल पर अपना आग्रह भेजना होगा।

Mody University Apply Now!!

अपने विचार बताएं।