रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआबी) की परीक्षा 17 सितबंर 2018 को आयोजित की है। अब उम्मीदवारों की आरआरबी रेलवे ग्रुप डी परीक्षा तारीख और एडमिट कार्ड 2018 जारी कर दिए गए है। और एडमिट कार्ड में परीक्षा की तारीख के साथ परीक्षा केंद्र की जानकारी भी शामिल है। आपको बता दें की जिन उम्मीदवारों का परीक्षा केंद्र मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश या फिर नागालेंड में से कोई एक है तो उन उम्मीदवारों को इनर लाइन परमिट (आईएलपी) वीजा लेना होगा। वैसे तो भारतीयों को किसी भी राज्य में जाने की अनुमति है, लेकिन देश में कुछ राज्य ऐसे भी है जहां बिना अनुमति लिए नहीं जा सकते है। ऐसे राज्यों में जाने के लिए इनर लाइन परमिट वीजा लेना होता है। यह परमिट उन उम्मीदवारों को लेना जरुरी है जो इन राज्यों में आरआरबी परीक्षा 2018 देने जाएंगे।

जिन उम्मीदवारों का परीक्षा केंद्र मिजोरम राज्य में है , उन उम्मीदवारों को इनर लाइन परमिट, मिजोरम प्राप्त करना होगा।आईएलपी संपर्क अधिकारी, कोलकाता में मिजोरम सरकार, सिलचर, शिलांग, गुवाहाटी और नई दिल्ली। जो उम्मीदवार हवाई अड्डे से आएंगे वो वोलेंगपुई हवाई अड्डे, ऐजोल, मिजोरम में आगमन पर अधिकारी से इनर लाइन परमिट प्राप्त कर सकते है।जिन उम्मीदवारों का परीक्षा केंद्र अरुणाचल प्रदेश राज्य में है, उन उम्मीदवारों को इनर लाइन परमिट, अरुणाचल प्रदेश  प्राप्त करना होगा। उम्मीदवार आईएलपी दिल्ली, कोलकाता, गुवाहाटी, शिल्लोंग, तेज़पुर, डिब्रूगढ़, नार्थ लखीमपुर, जोरहाटके अॉफिस से प्राप्त कर सकते है। जिन उम्मीदवारों का परीक्षा केंद्र नागालेंड राज्य में है , उन उम्मीदवारों को इनर लाइन परमिट, नागालेंड प्राप्त करना होगा।उम्मीदवार आईएलपी दिल्ली, कोलकाता, शिल्लोंग, गुवाहाटी, मोकोपचंग नागालैंड के अॉफिस से प्राप्त कर सकते है।

नागालेंड के लिए इनर लाइन परमिट नीचे दिए गए पते से लें।

मिजोरम के लिए इनर लाइन परमिट नीचे दिए गए पते से लें।

अरुणाचल प्रदेश के लिए इनर लाइन परमिट नीचे दिए गए पते से लें।

आपको बता दें की मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश या फिर नागालेंड में जिन उम्मीदवारों के आरआरबी परीक्षा केंद्र आए है, उन उम्मीदवारों को इन राज्यों में एंट्री करने के लिए इनर लाइन परमिट (आईएलपी) वीजा प्राप्त करना होगा। यह वीजा उससी तरह काम करता है जैसे विदेशी वीजा काम करता है। यह नियम अभी फिलहाल इन्हीं तीन राज्यों में लागू है और उन राज्यों में लागू है जिनकी सीमा अंतर्राष्ट्रीय बार्डर से लगी है। बताया जाता है की यह नियम राज्यों की संस्कृति, प्रकृति और जनजाति की सुरक्षा करने के लिए बनाए गए है। इस कारण अगर कोई भी इन राज्यों में एंट्री चाहिए है तो उन्हें पहले इनर लाइन परमिट (आईएलपी) वीजा प्राप्त करना होगा।

अपने विचार बताएं।