जो उम्मीदवार एसएससी भर्ती देख देख रहें हैं उनको बता दें कि एसएससी यानी कि कर्मचारी आयोग ने जूनियर इंजीनियर (सिविल, इलेक्ट्रिकल, मेकेनिकल एंड क्वांटिटी सर्वेइंग एंड कांट्रैक्ट) परीक्षा 2017 की अर्हता में बदलाव किया है। इसकी जानकारी आयोग ने अपनी अधिकारी वेबसाइट पर दी है। आयोग की अधिकारी वेबसाइट www.ssc.nic.in है। आप इस वेबसाइट के जरिए आयोग से जुडी जानकारी ले सकते हैं।

एसएससी ने जूनियर इंजीनियर (सिविल, इलेक्ट्रिकल, मेकेनिकल एंड क्वांटिटी सर्वेइंग एंड कांट्रैक्ट) परीक्षा 2017 का विज्ञापन निकाला था। एसएससी ने जूनियर इंजीनियर (सिविल, इलेक्ट्रिकल, मेकेनिकल एंड क्वांटिटी सर्वेइंग एंड कांट्रैक्ट) परीक्षा 2017 का विज्ञापन 21 अक्टूबर 2017 को अपनी अधिकारी वेबसाइट पर जारी किया था। आपको बता दें कि आयोग ने पैरा छह के अंतर्गत शैक्षित अर्हता में दो बदलाव किए हैं। आइए आपको बताते हैं कि ये दो बदलाव क्या हैँ।

पैरा 6-
SSC-JE-Eligibility-Aglasem

उम्मीदवार 21 अक्टूबर 2017 को कमीशन की वेबसाइट पर प्रकाशित एसएससी जूनियर इंजीनियरों (सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और गुणवत्ता सर्वेक्षण और अनुबंध) परीक्षा 2017 के नोटिस का उल्लेख कर सकता है। पैरा 6 में जूनियर इंजीनियर (मेकेनिकल / इलेक्ट्रिकल) इन क्वालिटी एश्योरेंस (नवल) के पद के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता के बारे में  निम्नलिखित संशोधन किए गए हैं।

ये बदलाव SSC JE (मेकेनिकल / इलेक्ट्रिकल ) इन क्वालिटी एश्योरेंस (नवल) के पद पर मांगी गई अर्हताओं में किए गए हैं। जानकारी के अनुसार जूनियर इंजीनियर्स (मेकेनिकल) अॉफ क्वालिटी एश्योरेंस में पहले किसी मान्यता पा्रपत विश्वविद्यालय या इसके समकक्ष संस्थान से मेकेनिकल इंजीनियर में इंजीनियरिंग में डिप्लोमा, इस क्षेत्र में दो साल का अनुभव या कार्यक्षेत्र में एश्योरेंस / क्वालिटी कंट्रोल पो्रडक्शन मैरीन इंजीनियरिंग सिस्टम में मैन्युफैक्चरिंग और टेस्टिंग समेत अन्य अनुभव मांगे हैं। पर अब इसमें संशोधन कर दिया गया और संशोधन किया गया है कि उम्मीदवार के पास एक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिग्री या एक मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में तीन साल का डिप्लोमा और संबंधित क्षेत्रों में दो साल का अनुभव होना चाहिए। SSC JE बदलाव की अधिक जानकारी के लिए यहां देंख सकते हैं।

Leave a Reply