इन दिनों उत्तर प्रदेश में बोर्ड की परीक्षाएं चल रही हैं। बता दें कि यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को बीच में ही छात्र छोड़ रहे हैं और लगातार इस आंकड़े में इजाफा हो रहा है। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं कुछ दिन पहले 07 फरवरी से ही शुरू हुई थीं और तीन-चार पेपर ही हुए हैं और छात्र परीक्षाएं छोड़ रहे हैं। बता दें कि इस वर्ष बोर्ड परीक्षाओं के लिए 67 लाख से ज्यादा छात्रों का रजिस्ट्रेशन किया था। बोर्ड में सख्ती के कारण छात्र परीक्षा में शामिल नहीं हो रहे हैं। यूपी बोर्ड परीक्षा के दूसरे दिन ही छात्रों की संख्या में भारी गिरावट आयी थी। यूपी बोर्ड की कई परीक्षाएं अभी बची हुई है लेकिन कई छात्र परीक्षा देने के लिए उपस्थित नहीं हो रहे।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यूपी बोर्ड परीक्षा में नक़ल रोकने के लिए इस बार बहुत ही पुख्ते बंदोबस्त किए गए हैं। यूपी सरकार ने साफ तौर पर अध्यापकों को निर्देश दिया है कि नकल करने वाले छात्रों के साथ सख्ती से काम आए। कहा जा रहा है कि यही वजह है कि छात्र परीक्षा देने नही आ रहे। बता दें कि यूपी सरकार ने इस बार स्पेशल टास्क फोर्स को नकल करने वाले परीक्षार्थियों को दूर रखने के लिए कहा है। साथ ही इस बार इंतजाम इतने कड़े हैं कि फेक स्टूडेंट परीक्षा नही दे पाएंगे।

यूपी बोर्ड 2019 की परीक्षा के लिए परीक्षा केन्द्रों में सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए गए हैं। वहीं छात्रों की चैकिंग भी की जा रही है। कहा जा रहा है कि यही वजह है कि छात्र परीक्षा ना देना ही ठीक समझ रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यूपी बोर्ड की परीक्षा के लिए इस वर्ष करीब 58,06,922 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था लेकिन 31,95603 छात्र ही पहले दिन 10वीं और 12वीं की परीक्षा में शामिल हुए। बता दें कि परीक्षा के दूसरे दिन ही छात्रों की संख्या में भारी गिरावट आयी। कहा जा रहा है कि यूपी बोर्ड 2019 की परीक्षा को बीच में ही करीब 3 लाख छात्रों ने छोड़ दिया यानि कि उन्होंने परीक्षा नहीं दी।

बता दें कि अभी 10वीं और 12वीं की कई परीक्षाएं होनी बाकि है और ऐसा लग रहा है कि छात्रों की संख्या में अभी और गिरावट आ सकती है। बात करें अगर पिछले वर्ष की तो बता दें कि पिछले वर्ष भी यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए कड़े इंतजाम किए गए थे जिसके चलते पिछले वर्ष भी लाखों छात्रों ने परीक्षा में हिस्सा नही लिया। पिछले वर्ष करीब 66 लाख छात्रों ने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था जिसमें से करीब 15 प्रतिशत छात्रों ने बीच में ही परीक्षा छोड़ दी थी। बता दें कि 10वीं कक्षा की परीक्षा 28 फरवरी,2019 तक चलेगी और 12वीं कक्षा की परीक्षा 2 मार्च तक चलेगी।

अपने विचार बताएं।