शिक्षा के छेत्र में भविष्य बनाने की चाह रखने वाले युवाओं के लिए महत्वपूर्ण खबर है। उत्तर प्रदेश सरकार ने शिक्षकों के 68500 रिक्त पदों के लिए भर्तियां निकाली हैं। इसकी अभी कोई आधिकारिक सूचना नहीं की गई है लेकिन एक खबर के मुताबिक शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए इच्छुक और योग्य उम्मीदवारों के लिए जल्द ही आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। आवेदन केवल ऑनलाइन मध्यान से की जाएगी। यूपी सरकार ने पदों की संख्या के साथ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की तारीखें भी घोषित कर दी हैं। उम्मीदवार दिनांक 11 दिसम्बर 2018 से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की आखिरी तारीख दिनांक 25 दिसम्बर 2018 तय की गई है। शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को यह सूचित किया जाता है कि लिखित परीक्षा दिनांक 6 जनवरी 2019 को आयोजित की जाएगी। परीक्षा की तारीखें घोषित होने के साथ ही लिखित परीक्षा के पैटर्न में भी कुछ बदलाव किए गए हैं।

अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा, प्रभात कुमार ने यह ऐलान किया है कि शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 शुरू होने से पहले टीईटी 2018 परीक्षा और निरस्त की गई बीटीसी परीक्षा आयोजित की जाएगी। उम्मीदवारों को बता दें कि टीईटी 2018 परीक्षा पहले दिनांक 4 नवंबर 2018 को होने वाली थी। टीईटी 2018 परीक्षा की तारीख को स्थगित कर दिया गया है। अब यह परीक्षा 18 नवंबर 2018 को आयोजित होगी। वहीं निरस्त की गई बीटीसी परीक्षा की तारीखों के लिए दिनांक 8 अक्टूबर 2018 से 10 अक्टूबर 2018 प्रस्तावित की गई थी। बीटीसी परीक्षा की तारीखें जारी कर दी गई हैं। यह परीक्षा दिनांक 1 नवंबर 2018 से 3 नवंबर 2018 तक चलेगी। इन दोनों परीक्षाओं के परिणाम शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 के ऑनलाइन आवेदन शुरू होने से पहले ही जारी कर दिए जाएंगे। परिणाम जारी होने की तारीख दिनांक 10 दिसम्बर 2018 तय की गई है।

6 जनवरी 2019 को होने वाली शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 के पैटर्न में भी बदलाव किए गए हैं। इस परीक्षा में पहले लघु उत्तरीय प्रश्न पूछे जाते थे। पैटर्न में बदलाव करते हुए सरकार ने यह फैसला किया है कि लघु उत्तरीय प्रश्नों की जगह बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा में पूछे जाने वाले सभी प्रश्नों के उत्तर उम्मीदवारों को ओएमआर शीट पर देनी होगी।

मुख्य सचिव डाक्टर अनूप चंद्र पांडेय की मौजूदगी में प्रभात कुमार ने यह बताया कि एसटीएफ बीटीसी परीक्षा के प्रश्न पत्र लीक होने की जांच कर रही है। एसटीएफ ने इस मामले से जुड़ी प्रारंभिक रिपोर्ट उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ साझा कर दी है। मुख्य मंत्री ने साफ़ शब्दों में कहा कि बीटीसी परीक्षा के प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में प्रिंटिंग प्रेस से ले कर परीक्षा केंद्र तक जो भी शामिल हैं उन सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। साथ ही इसमें शामिल लोगों की कुर्की भी जब्त की जाएगी। प्रश्न पत्र लीक होने में यदि किसी गिरोह की बात सामने आती है तो रासुका के तहत भी कार्यवाई की जाएगी।

बता दें कि सहायक अध्यापकों के 68500 रिक्त पदों पर पहले भी परीक्षा आयोजित की जा चुकी है। पहले चरण में शुरू की गई भर्ती से जो पद खाली बच गए हैं उन्हें नई भर्ती की रिक्तियों में शामिल नहीं किया गया है। शिक्षक भर्ती के पहले चरण में आयोजित लिखित परीक्षा में कई उम्मीदवार विफल हो गए थे। परीक्षा उत्तीर्ण न हो पाने की वजह से करीब 26944 पद खली रह गए हैं।

Mody University Apply Now!!

अपने विचार बताएं।