शिक्षा के क्षेत्र में करियर बनाने वालों के लिए यूपी सरकार सुनहरा अवसर ले कर आया है। उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग (यूपीएचईएससी) में जल्द निकलेंगे आवेदन। कुल 534 पदों के लिए आवेदन निकाली जाएगी। यह आवेदन असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों के लिए निकले जाएंगे। 5 सितम्बर 2018 को हुई थी आयोग की बैठक। यह फैसला बैठक में उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने लिया है। आयोग ने नए पदों पर भर्ती के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। जल्द ही अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के पदों की लिए 534 रिक्तियों के विज्ञापन जारी किए जाएंगे। यह उन लोगों के लिए भी एक अच्छा अवसर है जो सरकारी नौकरी के लिए प्रयास कर रहे हैं। उम्मीदवार इस बात का ध्यान रखें की शिक्षकों को उनकी योग्यता के अनुसार इन रिक्त पदों के लिए नियुक किया जाएगा।

शिक्षक दिवस (5 सितम्बर 2018) को उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था की राज्य में प्राइमरी शिक्षकों के कुल 97 हजार पद खली हैं। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने  शिक्षकों के 97 हजार पदों पर भर्ती की घोषणा भी की थी। उन्होंने यह भी कहा था की इन रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। साथ ही इन पदों पर योग्यता के अनुसार नियुक्ति होगी। उम्मीद की जा रही है की शिक्षकों के इन 97 हजार पदों पर लोकसभा चुनाव से पहले ही भर्ती की जा सकती है।

जानकारी के लिए बता दे की शिक्षामित्रों के समायोजन के बाद उत्तर प्रदेश में प्राइमरी शिक्षा परिषद् में शिक्षकों के 1 लाख 37 हजार पद खली हुए थे। इसमें भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। पहले चरण में 68 हजार 500 पदों के लिए आवेदन निकाले गए थे। इसकी भर्ती के लिए हुई परीक्षा में केवल 41 हजार 556 उम्मीदवारों ने सफलता हासिल की थी। इस परीक्षा में कुल 768 उम्मीदवारों ने भर्ती परीक्षा में भाग नहीं लिया था। रिक्त 97 हजार पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया जल्द आयोजित की जाएगी।

अपने विचार बताएं।