सीबीएसई

उत्तर प्रदेश के विशेष टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने यूपी पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 में धोखाधड़ी के सिलसिले में सोमवार को कम से कम 16 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। दो दिवसीय परीक्षा, उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती बोर्ड द्वारा 56 जिलों में 860 केंद्रों पर 41,520 पदों को भरने के लिए आयोजित की गई है। पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) अमिताभ यश ने यहां बताया, “उत्तर प्रदेश पुलिस की विशेष टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गोरखपुर से 11 लोगों और इलाहाबाद से पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।” इसके चलते ही ये खबर आ रही थी कि परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है। जो परीक्षा 19 जून 2018 और 19 जून 2018 को हुई है उसे निरस्त कर दिया गया है। लेकिन कल उत्तर प्रदेश की सरकार ने एक नोटिस जारी करके बता दिया गया है कि परीक्षा को निरस्त नहीं किया गया है।

जी हां अगर आपने भी यूपी पुलिस कांस्टेबल परीक्षा दी है तो परेशान न हों परीक्षा को निरस्त नहीं किया गया है। अगर एक खबर की माने तो कहा गया है कि  एक वरिष्ठ एसटीएफ अधिकारी अभिषेक सिंह ने कहा कि लिखित परीक्षा की शुरूआत से ठीक पहले रविवार रात और सोमवार की सुबह गोरखपुर और इलाहाबाद से गिरफ्तारी की गई थी। गिरोह प्रश्नपत्रों को हल करने के लिए उम्मीदवारों से 5 लाख रुपये चार्ज करता था। 5.50 लाख से ज्यादा नकदी, ब्लूटूथ डिवाइस, उम्मीदवारों की कई तस्वीरें और प्रवेश पत्र उनके कब्जे से बरामद किए गए। इसी सब के कारण परीक्षा निरस्त होने की खबरे आ रही थीं। लेकिन अब उत्तर प्रदेश सरकार ने एक नोटिस जारी करके इस खबर पर रोक लगा दी है। और से बता दिया है कि परीक्षा को निरस्त नहीं किया गया है।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती में आरक्षी नागरिक पुलिस एंव आराक्षी प्रादेशिक आर्म्ड कान्सटेबुलरी में 41520 कांस्टेबल रिक्तियों की भर्ती करने के लिए सरकार ने आनलाइन आवेदन पत्र आम्नतत्रित किए जा रहे हैं। आरक्षी नागरिक पुलिस में कुल पदों की संख्या 23520 हैं। और आरक्षी प्रादेशिक आर्म्ड कान्सटेबुलरी में कुल पदों की संख्या 18000 है। आप यूपी कांस्टेूल के बारे में अधिक जानकारी यहां से देख सकते हैं।

2 टिप्पणी

अपने विचार बताएं।