upsc cms syllabus

यूपीएससी यानि कि लोक संघ सेवा आयोग ने असिस्टेंट डिवीज़न मेडिकल ऑफिसर इन द रेलवेज, असिस्टेंट मेडिकल ऑफिसर इन इंडियन ऑर्डिनेंस फैक्ट्रीज़ हेल्थ साइंस, जूनियर स्केल पोस्ट इन सेंट्रल हेल्थ सर्विस, जनरल ड्यूटी मेडिकल ऑफिसर एवं जनरल ड्यूटी मेडिकल ऑफिसर ग्रेड-2 के विभिन्न पदों पर भर्ती निकाली है। जो उम्मीदवार इस भर्ती में भाग लेंगे वे परीक्षा के लिए तैयारी भी कर रहे होंगे। उम्मीदवारों की बेहतर तैयारी के लिए हम अपने पेज पर वर्ष 2019 की भर्ती प्रक्रिया का सिलेबस उपलब्ध करवा रहे हैं जिससे कि वे सिलेबस के अनुसार अपनी तैयारी को बेहतर ढंग से कर सकें और बिना जरूरत के विषयों को न पढ़कर अपने समय की बचत कर सकें। उम्मीदवार हमारे पेज से UPSC CMS Syllabus 2019 PDF भी प्राप्त कर सकते हैं इसके साथ उम्मीदवार सिलेबस की जानकारी हिंदी में भी प्राप्त कर सकते हैं।

यूपीएससी सीएमएस भर्ती 2019 (UPSC CMS Syllabus)

यूपीएससी सीएमएस भर्ती प्रक्रिया 2019 की परीक्षा दो भागों में करायी जाती है। पहले भाग में उम्मीदवारों की परीक्षा कंप्यूटर आधारित होती है जो 500 अंको की होती है। कंप्यूटर आधारित परीक्षा दो भागों में संपन्न कराई जाती है पेपर -1 एवं पेपर -2, प्रत्येक पेपर 250 अंक का होता है। जो उम्मीदवारों पहले चरण की परीक्षा में सफल रहते हैं उन्हें दूसरे चरण की परीक्षा पर्सनैलिटी टेस्ट के लिए बुलाया जाता है जो 100 नम्बर का होता है। उम्मीदवार दोनों ही पेपर के सिलेबस की जानकारी हमारे पेज से प्राप्त कर सकते हैं।

यूपीएससी सीएमएस भर्ती 2019 प्रथम प्रश्न पत्र सिलेबस

यूपीएससी सीएमएस भर्ती के प्रथम चरण की परीक्षा में उम्मीदवारों से पहले पेपर में उम्मीदवारों से जनरल मेडिसिन एवं बच्चों की दवा करने की विद्या (Pediatrics) के अंतर्गत आने वाले विभिन्न विषयों से सम्बंधित प्रश्न पूछे जायेंगे। उम्मीदवारों से पहले चरण के पहले पेपर में कुल 120 प्रश्न पूछे जायेंगे जिसमें से 96 प्रश्न जनरल मेडिसिन एवं 24 प्रश्न पेडियाट्रिक्स विषय से पूछे जायेंगे।

पहले चरण के दूसरे पेपर में उम्मीदवारों से सर्जरी,स्त्री रोग एवं प्रसूति विज्ञान, निवारक एवं सामाजिक चिकित्सा से सम्बंधित विभिन्न विषयों से प्रश्न पूछे जायेंगे। पेपर में कुल 120 प्रश्न पूछे जायेंगे और प्रत्येक विषय से 40 प्रश्न पूछे जायेंगे। उम्मीदवार हमारे पेज से UPSC CMS Syllabus 2019 PDF भी प्राप्त कर सकते हैं।

पेपर – 1 सिलेबस की विस्तृत जानकारी / UPSC CMS paper 1 syllabus

जनरल मेडिसिन :

  • कार्डियलजी
  • सांस की बीमारियों
  • गैस्ट्रो आंत्र
  • जेनिटो-मूत्र
  • तंत्रिका-विज्ञान
  • रुधिर
  • अंतःस्त्राविका
  • चयापचयी विकार
  • संक्रमण / संचारी रोग
    • वायरस, रिकेट्स, बैक्टीरियल, स्पिरोकैटल, प्रोटोजोअन, मेटाज़ोन, फंगस
  • पोषण / विकास
  • त्वचा के रोग (त्वचा विज्ञान)
  • मस्कुलोस्केलेटल सिस्टम
  • मानसिक रोगों की चिकित्सा
  • सामान्य
  • आपातकालीन दवा
  • आम जहर
  • साँप का काटना
  • ट्रॉपिकल मेडिसिन
  • क्रिटिकल केयर मेडिसिन
  • चिकित्सा प्रक्रियाओं पर जोर
  • पैथो शारीरिक रोगों का आधार
  • टीके से बचाव योग्य बीमारियां और गैर टीके से बचाव योग्य रोग हैं
  • विटामिन की कमी से होने वाले रोग
  • मनोरोग में शामिल हैं – अवसाद, मनोविकृति, चिंता, द्विध्रुवी रोग और सिज़ोफ्रेनिया

बच्चों की दवा करने की विद्या (Pediatrics) :

  • आम बचपन की आपात स्थिति,
  • मूल नवजात की देखभाल,
  • सामान्य विकासात्मक मील के पत्थर,
  • बच्चों में दुर्घटनाओं और विषाक्तता,
  • आत्मकेंद्रित सहित जन्म दोष और परामर्श,
  • बच्चों में टीकाकरण,
  • विशेष जरूरतों और प्रबंधन के साथ बच्चों को पहचानना, और
  • बाल स्वास्थ्य से संबंधित राष्ट्रीय कार्यक्रम।

पेपर – 2 सिलेबस की विस्तृत जानकारी / UPSC CMS paper 2 syllabus

सर्जरी: (ईएनटी, नेत्र रोग, ट्रामाटोलॉजी और आर्थोपेडिक्स सहित सर्जरी)

  • सामान्य सर्जरी: घाव, संक्रमण, ट्यूमर, लसीका, रक्त वाहिकाओं, सिस्ट / साइनस, सिर और गर्दन, स्तन, एलिमेंटरी ट्रैक्ट (एसोफैगस, पेट, आंत, गुदा, विकास) लिवर, पित्त, अग्न्याशय, प्लीहा, पेरिटोनियम, पेट की दीवार, पेट में चोट।
  • यूरोलॉजिकल सर्जरी
  • न्यूरो सर्जरी
  • Otorhinolaryngology ईएनटी
  • वक्ष शल्य चिकित्सा
  • आर्थोपेडिक सर्जरी
  • नेत्र विज्ञान
  • एनेस्थिसियोलॉजी
  • ट्रामाटोलोजी
  • निदान और आम सर्जिकल बीमारियों का प्रबंधन
  • सर्जिकल रोगियों की प्री एवं ऑपरेटिव और पोस्ट ऑपरेटिव देखभाल
  • मेडिकोलीगल और सर्जरी के नैतिक मुद्दे
  • जख्म भरना
  • सर्जरी में द्रव और इलेक्ट्रोलाइट प्रबंधन
  • शॉक पाथो path शरीर विज्ञान और प्रबंधन

OBSTETRICS (दाई का काम)

  • एण्ट-नैटल स्थितियां
  • जन्म के समय की स्थिति
  • प्रसवोत्तर की स्थिति
  • सामान्य मजदूरों या जटिल श्रम का प्रबंधन

स्त्री रोग :

  • लागू शरीर रचना पर प्रश्न
  • मासिक धर्म और निषेचन के अनुप्रयुक्त शरीर विज्ञान पर प्रश्न
  • जननांग पथ में संक्रमण पर सवाल
  • जननांग पथ में नियोप्लाज्मा पर सवाल
  • गर्भाशय के विस्थापन पर प्रश्न
  • सामान्य प्रसव और सुरक्षित प्रसव अभ्यास
  • उच्च जोखिम गर्भावस्था और प्रबंधन
  • गर्भपात
  • अंतर्गर्भाशयी विकास मंदता
  • रेप सहित मोटापे और Gynae में औषधीय परीक्षण।

परिवार नियोजन

  • पारंपरिक गर्भनिरोधक
  • यूडी और मौखिक गोलियां
  • शहरी और ग्रामीण परिवेश में कार्यक्रमों की संचालन प्रक्रिया, बंध्याकरण और संगठन
  • गर्भावस्था की चिकित्सा समाप्ति

सामुदायिक एवं सामाजिक चिकित्सा निवारक

  • सामाजिक और सामुदायिक चिकित्सा
  • स्वास्थ्य, रोग और निवारक चिकित्सा की अवधारणा
  • स्वास्थ्य प्रशासन और योजना
  • सामान्य महामारी विज्ञान
  • जनसांख्यिकी और स्वास्थ्य सांख्यिकी
  • संचारी रोग
  • पर्यावरण स्वास्थ
  • पोषण और स्वास्थ्य
  • गैर – संचारी रोग
  • व्यावसायिक स्वास्थ्य
  • आनुवंशिकी और स्वास्थ्य
  • अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य
  • चिकित्सा समाजशास्त्र और स्वास्थ्य शिक्षा
  • मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य
  • राष्ट्रीय कार्यक्रम
  • सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं का प्रबंधन
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों की निगरानी करने की क्षमता
  • मातृ एवं शिशु कल्याण का ज्ञान
  • कुपोषण और आपात स्थितियों सहित सामुदायिक स्वास्थ्य समस्याओं की पहचान, जांच, रिपोर्ट, योजना और प्रबंधन करने की क्षमता।

व्यक्तित्व परिक्षण (Personality Test)

जो उम्मीदवार कंप्यूटर आधारित परीक्षा में उत्तीर्ण होंगे उन उम्मीदवारों को संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित साक्षात्कार/ व्यक्तित्व परीक्षण के लिए बुलाया जाएगा। साक्षात्कार/ व्यक्तित्व परीक्षण 100 अंकों का होगा। व्यक्तित्व परीक्षण में उम्मीदवारों से उनकी शैक्षिक योग्यता, उनकी बौद्धिक क्षमता से सम्बंधित प्रश्न पूछे जायेंगे।  

UPSC CMS Syllabus 2019 PDF यहाँ से प्राप्त करें।

यूपीएससी सीएमएस भर्ती

अपने विचार बताएं।