छत्तीसगढ़ पुलिस

यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) परीक्षा वो परीक्षा है जिसके लिए सभी छात्र तैयारी करते है। यूपीएसएसएससी परीक्षा, यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग आयोजित की जाती है। यूपीएससी एक राज्य स्तर पर बहुत बडी़ और महत्तवपूर्ण परीक्षा होती है। जो भी छात्र सरकारी नौकरी करना चाहते हैं। वे सभी यूपीएसएसएससी की परीक्षाओं में शामिल होते हैं। यूपीएसएसएससी की परीक्षा सभी छात्रों के लिए महत्तवपूर्ण होती है। और वे उससे जुडी़ सारी खबरें पढ़ते हैं। लेकिन आज हम आपके लिए एक ऐसी खबर लेकर आए हैं जो उन छात्रों के लिए अच्छी नहीं है जो यूपीएसएसएससी की तैयारी कर रहे हैं।

अब दो प्रश्नों के गलत होने पर एक सही जवाब का अंक कटेगा

आपको बता दें कि अभी यूपीएसएसएससी की परीक्षाओं में एक बड़ा बदलाव किया गया है। आपको बता दें कि ये बदलाव क्या है ? यूपीएसएसएससी परीक्षाओं में अब माइनस मार्किंग की व्यवस्था लागू कर दी गई है। आयोग के अध्यक्ष सी.बी. पालीवाल ने बताया कि अब परीक्षा में निगेटिव मार्किंग 50 फीसदी होगी। इसका मतलब ये कि दो प्रश्नों के गलत होने पर एक सही जवाब का अंक काटा जाएगा। फिलहाल माइनस मार्किंग की व्यवस्था को व्यायाम प्रशिक्षक तथा क्षेत्रीय युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल अधिकारी के पदों की भर्ती में इसे लागू किया जाएगा। उसके बाद भविष्य में अधीनस्थ की सभी परीक्षाओं में इसे लागू करने की तैयारी की जा रही है।

आपको बता दें कि आयोग के अध्यक्ष सीबी पालीवाल ने बताया है कि परीक्षा योजना को अभ्यर्थियों के लिए अनंतिम रूप से जारी कर दिया गया है। शासन को इसे सहमति मिलने के लिए भेजा गया है। एक बार सहमति मिलने पर इसे अंतिम मान लिया जाएगा। यूपीएसएसएससी में इस बदलाव से सभी उन छात्रों को समस्या हो सकती है जो यूपीएसएसएससी परीक्षाओं में शामिल होने वाले हैं। यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) में 694 पदों के लिए अब तक 1.5 लाख रजिस्ट्रेशन हो गए हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here