यूपी टीईटी 2018

टीईटी की परीक्षा शिक्षक बनने के लिए जरुरी परीक्षा है। शिक्षक बनने के लिए हर किसी को टीईटी परीक्षा में सफल होना जरुरी है। यूपी टीईटी 2018 उत्तर प्रदेश के उम्मीदवारों के लिए शिक्षक बनने का सुनहरा अवसर है।। यूपी टीईटी 2018 के लिए आवेदन 18 सितंबर 2018 से शुरु हो चुके हैं। उम्मीदवार उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 के लिए अॉनलाइन आवेदन कर सकते हैं। यूपी टीईटी 2018 परीक्षा दो तरह के उम्मीदवार दे सकते हैं। पहले जो कक्षा 1 से 5 तक की कक्षा को पढ़ाना चाहते हैं। दूसरे वो जो कक्षा 6 से 8 तक को पढ़ाना चाहते हैं। जिसके बाद उम्मीदवारों को यूपी टीईटी 2018 की तैयारी कैसे करें के बारे में जानना चाहते होंगे। इस आर्टिकल में यूपी टीईटी 2018 की तैयारी कैसे करें से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

नवीनतम –

यूपी टीईटी 2018 (UP TET 2018)

टीईटी उत्तर प्रदेश परीक्षा 4 नवंबर 2018 को आयोजित की जाएगी।यू पी टी ई टी के लिए योग्यता अनुसार आवेदन किए गए है। और आशा करते हैं कि उम्मीदवारों ने तैयारी शुरु कर दी होगी। यू पी टी ई टी सिलेबस 2018  बहुत सारा है। उम्मीदवारों को समझ नहीं आता कि क्या पढ़े और कैसे पढ़े। इस आर्टिकल से आप लोगें को जरुर मदद मिलेगी। यहां पर यू पी टी ई टी 2018 की तैयारी से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त कर सकते है। उससे पहले परीक्षा से जुड़ी जरुरी तारीखों के बारे में जानने के लिए टेबल देखें।

ये पढ़े – यूपी टीईटी 2018 का पूरा परीक्षा पैटर्न यहां से देखें। 

महत्तवपूर्ण तारीखें

कार्यक्रम तारीख
अधिसूचना की तारीख 18 सितंबर 2018
आवेदन करने की तारीख 18 सितंबर 2018
आवेदन करने की आखिरी तारीख 04 अक्टूबर 2018
आवेदन शुल्क करने की आखिरी तारीख 05 अक्टूबर 2018
सम्पूर्ण आवेदन करने की आखिरी तारीख 06 अक्टूबर 2018
प्रवेश पत्र डाउनलोड करने की तारीख 10 अक्टूबर 2018
परीक्षा की तारीख 04 नवंबर 2018

  • पहली पाली – 10 बजे से साढ़े 12 बजे तक
  • दूसरी पाली – ढ़ाई बजे से 5 बजे तक
उत्तर कुंजी जारी होने की तारीख 06 नवंबर 2018
परीक्षा परिणाम जारी होने की तारीख 20 नवंबर 2018

ये पढ़े – यूपी टीईटी 2018 के लिए पाठ्यक्रम यहां से देखें।

यूपी टीईटी 2018 कैसे करें तैयारी ?

  • पाठ्यक्रम अच्छे से देखें – सबसे पहला और जरुरी काम है पाठ्यक्रम को अच्छे से देखना। और देखने के साथ साथ समझना। उम्मीदवार सिलेबस को अच्छे से पढ़े। उसके बाद विषय के अनुसार सभी टोपिक को लिख लें। पिछले साल के प्रश्न पत्र को देखें। उसके हिसाब से हर विषय के टोपिक को महत्त्व के अनुसार लिखें। इससे आप लोगों को हर विषय की पहचान हो जाएगी। साथ ही यह भी पता चल जाएगा कि कौन-सा टोपिक कितना महत्त्व रखता है। जिससे तैयारी करने में आसानी होगी।
  • अपना लक्ष्य बनाएं – यूपी टीईटी 2018 का सिलेबस बहुत सारा है। जिसको बिना लक्ष्य बनाएं पूरा नहीं किया जा सकता है। इसलिए उम्मीदवारों के लिए लक्ष्य बनाना जरुरी है। हर विषय का लक्ष्य बनाना होगा। जिससे परीक्षा की तारीख से पहले हर विषय की तैयारी अच्छे से पूरी हो जाए। और उम्मीदवारों के लिए जरुरी है कि वो अपने हर बनाएं लक्ष्य को पाने में सफल हो। अगर यह लक्ष्य हासिल होंगे तभी सबसे महत्तवपूर्ण लक्ष्य हासिल होगा।
  • लेटेस्ट स्टडी मटिरियल – उम्मीदवारों को इस बात का खास ध्यान रखना होगा कि वो किससे पढ़ रहे है। सारा लेटेस्ट स्टडी मटिरियल से ही पढ़ना जरुरी है। क्योंकि उससे ही लगभग परीक्षा में प्रश्न आएंगे। यू पी टेट मॉडल पेपर हल करें। अपडेटिड स्टडी मटिरियल के बारे में जानकारी प्राप्त करें। उम्मीदवार कम और अच्छा स्टडी मटिरियल ही चुने। ज्यादा स्टडी मटिरियल होने से भी आप कंफ्यूज हो सकते है। इसलिए सही, कम और अच्छा स्टडी मटिरियल को ही चुने।
  • नोट्स बनाएं – नोट्स बनाना किसी भी परीक्षा के लिए सबसे अच्छी आदत होती है। और जब यू पी टी ई टी 2018 की बात हो तो इससे अच्छा तरीका और कोई नहीं हो सकता। नोट्स बनाने से चीज़े ज्यादा अच्छे से याद रहती हैं। और यह नोट्स परीक्षा के आखिरी दिनों में सबसे ज्यादा काम आते हैं। और नोट्स में वही लिखें जो जरुरी है। या फिर जो आपको याद नहीं हो रहा है। नोट्स को रोज एक बार जरूर पढ़े ताकि चीजे दिमाग में रहें।
  • अनुमान लगाकर न पढ़े – सभी उम्मीदवारों को पता है कि वो कितनी बड़ी परीक्षा कि तैयारी कर रहें हैं। इसलिए हर टोपिक को निश्चित रूप से पढ़े। किसी तरह का गेस वर्क न करें। क्योंकि अनुमान लगाकर परीक्षा में सफलता नहीं पा सकते हैं। हर टोपिक को गहराई और ध्यान से पढ़े। ताकि कोई भी प्रश्न आने पर आपको दिक्कत न हो। इससे आपकी परीक्षा अवश्य ही अच्छी होगी।
  • आखिरी समय पर कुछ नया न पढ़े – यह गलती उम्मीदवार अक्सर करते है। आखिरी समय पर कुछ नया पढ़ना बिल्कुल गलत है। आखिरी समय में कुछ नया पढ़ने से कोई फायदा नहीं होता है। यूपी टीईटी 2018 के लिए बल्कि नुकसान होगा। एक तरफ जो नया आप पढ़ते है वो याद नहीं होता है। दूसरी तरफ पहले का पढ़ा हुआ भी आप लोग रिवाईज नहीं कर पाते है। इससे बेहतर है कि आप लोग पहले के पढ़े हुए टोपिक को ही दुबारा अच्छे से पढ़े। उससे आपको फायदा जरुर मिलेगा।
  • टाइम टेबल बनाएं – इतने ज्यादा सिलेबस को पूरा पढ़ने के लिए टाइम टेबल होना जरुरी है। बिना टाइम टेबल के इतना सारा सिलेब्स पूरा कर पाना थोड़ा मुश्किल होगा। लेकिन र्सिफ टाइम टेबल बनाने से काम नहीं चलेगा। इसको अगर आप नियमित रुप से अपनाएंगे तभी फायदा होगा। हर विषय और हर टोपिक को दिनों के अनुसार बांटे। और उसके अनुसार अपनी यूपी टीईटी 2018 की तैयारी करें।
  • रोज़ाना पढ़े – यूपी टीईटी 2018 परीक्षा की तैयारी काफी उम्मीदवार कर रहे है। और इतनी चुनौती के चलते रोजाना पढ़ने से ही सफलता मिलेगी। और रोज एक बार पिछले दिन का पढ़ा हुआ जरुर पढ़े। इससे आपका रोज़ रिवीजन होता रहेगा। जो परीक्षा के लिए बहुत अच्छा है। इतना सारा सिलेबस रोज़ाना पढ़ने के बाद ही पूरा होगा। नहीं तो आखिरी समय पर आपको कोई न कोई टोपिक छोड़ना पड़ेगा। जो आपकी परीक्षा के लिए अच्छा नहीं है। कोई टोपिक न छुटे इसलिए रोज़ाना पढ़े।

कुछ और सामान्य टिप्स

  • परीक्षा के 25 दिन पहले सारा सिलेबस पूरा कर लें। ताकि बाकी के दिनों में आप आपना रिवीजन शुरु कर सकें। और हर टोपिक को फिर से पढ़ सकें।
  • आखिरी समय में कोई नया स्टडी मटिरियल न खरीदें। इससे कंफ्यूजन होगा।
  • परीक्षा के आखिरी दो हफ्तों में अपने नोट्स को पढ़े।
  • पिछले साल के सेंपल पेपर को जरुर पढ़े और उन्हें हल करें।
  • अपने कमजोर टोपिक पर ज्यादा ध्यान दें। उनको रोज एकबार जरुर पढ़े।
  • सेहत का खास ध्यान रखें। नींद पूरी लें और अच्छा खाना खाएं।
  • प्रत्येक बार जब आप एक टोपिक पूरा करते हैं। तो पिछले वर्ष के पेपर से उस टोपिक के प्रश्नों का पता लगाएं और हल करें।
  • परीक्षा के समय बिल्कुल भी घबराएं नहीं। अपने आप पर भरोसा रखें।
  • परीक्षा वाले दिन ज्यादा पानी पीएं और अच्छा खाएं।
  • परीक्षा से थोड़ी देर पहले परीक्षा के बारे में बात न करें। अपनी तैयारी पर भरोसा रखें।
  • पढ़ते समय बीच – बीच में ब्रेक लें। ताकि दिमाग को आराम मिले।
  • परीक्षा के कुछ दिन पहले से योगा शुरु करें। जिससे दिमाग शांत रहेगा।
  • एडमिट कार्ड की दो से तीन फोटोकॉपी लेकर जाएं।
  • सबसे पहले आसान सवाल करें।
  • मार्किंग स्कीम को अच्छे से समझे और याद रखें।
  • परीक्षा के समय अटके नहीं, आगे बढ़े।
  • कभी परीक्षा में समय से पहले न उठे। अपने पेपर को चेक करें।

अपने विचार बताएं।