uttarakhand D.El.Ed.

डीएलएड जिसे हम डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन के नाम से भी जानते हैं एक प्रकार का डिप्लोमा कोर्स है। यह कोर्स द्विवर्षीय होता है। डीएलएड कोर्स करने के बाद उम्मीदवार अपना करियर शिक्षा के क्षेत्र में बना सकते हैं। डीएलएड करने के बाद उम्मीदवार विभिन्न सरकारी प्राइमरी स्कूल या प्राइवेट स्कूल में शिक्षक के पद पर कार्यरत हो सकते हैं। शिक्षक के साथ साथ उम्मीदवार अन्य क्षेत्रों में जैसे होम ट्यूटर के रूप में, एजुकेशन कॉउंसलर के रूप में, कंटेंट राइटर के रूप में, आर्टिकल राइटर के रूप में एवं इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में भी जॉब कर सकते हैं।

उम्मीदवारों को बता दें कि उन्हें दो वर्षीय डीएलएड करने के बाद सीटेट (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट/ CTET) या टेट (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट/ TET) परीक्षा पास करनी होती है तभी वे इन सभी नौकरी के लिए योग्यता पूर्ण कर पाते हैं। उत्तराखंड डीएलएड में एडमिशन प्रक्रिया से जुड़ी सभी जानकारी उम्मीदवार हमारे पेज से प्राप्त कर सकते हैं। डीएलएड डिप्लोमा कोर्स के लिए उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया से गुजरना होता है जिसके बाद उन्हें शॉर्टलिस्ट करके प्रदेश के विभिन्न कॉलेजों/ संस्थानों में एडमिशन दिया जाता है।

उत्तराखंड डीएलएड 2019  उत्तराखंड डीएलएड 2018

उत्तराखंड डीएलएड

उत्तराखंड डीएलएड डिप्लोमा कोर्स की एडमिशन प्रक्रिया उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् (Uttarakhand Board Of School Education) के द्वारा पूर्ण कराई जाती है। डीएलएड एडमिशन प्रक्रिया प्रतिवर्ष आयोजित की जाती है। एडमिशन प्रक्रिया के लिए उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् आवेदन पत्र जारी करता है। उम्मीदवारों को डीएलएड में एडमिशन के लिए सबसे पहले ऑनलाइन आवेदन पत्र भरना होता है। आवेदन पत्र उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् की ऑफिसियल वेबसाइट ubse.uk.gov.in पर जारी किये जाते हैं।

उत्तराखंड डीएलएड योग्यता एवं मापदंड

शैक्षिक योग्यता :

  • उम्मीदवार ने किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण की हो।
  • उम्मीदवार ने बारहवीं में कम से कम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त किये हों।
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीद्वारों के लिए 5 प्रतिशत की छूट प्रदान की गई है। ऐसे उम्मीदवारों ने कम से कम 45 प्रतिशत अंकों के साथ बारहवीं पास किया हो।

आयु सीमा :

  • सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 19 वर्ष होनी चाहिए।
  • सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष तय की गई है।
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट राज्य द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार प्रदान की जाएगी।

उत्तराखंड डीएलएड आवेदन प्रक्रिया

उत्तराखंड डीएलएड में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करनी होगी। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए उन्हें उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् की ऑफिसियल वेबसाइट ubse.uk.gov.in पर जाना होगा। उम्मीदवार ध्यान रखें की आवेदन पत्र तभी पूर्ण माना जायेगा जब वे उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् की ओर से निर्धारित की गई आवेदन फीस भरेंगे। आवेदन फीस उम्मीदवार ऑनलाइन माध्यम से जमा कर सकेंगे। आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद उम्मीदवार वेबसाइट से पूर्ण भरे हुए आवेदन पत्र की एक प्रति प्रिंट करके भविष्य के लिए सुरक्षित रख लेंगे। इस प्रकार से उनकी आवेदन प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

चयन प्रक्रिया

उत्तराखंड डीएलएड कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवारों को विभिन्न चरणों से होकर गुजरना होगा।

  • उत्तराखंड के विभिन्न कॉलेजों/ संस्थानों में डीएलएड कोर्स करने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् (UBSE) की ऑफिसियल वेबसाइट ubse.uk.gov.in से आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करनी होगी।
  • आवेदन प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् (UBSE) की ओर से उम्मीदवार की शैक्षिक योग्यता के आधार पर शॉर्टलिस्ट किया जायेगा।
  • शॉर्टलिस्ट किये गए उम्मीदवारों को एडमिशन के अगले चरण कॉउंसलिंग एवं परामर्श के लिए बुलाया जायेगा। जिसके बाद उम्मीदवारों को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की प्रक्रिया गुजरना होगा।
  • डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया के बाद उम्मीदवारों के द्वारा एडमिशन लेने के लिए चुने गए कॉलेज या संस्थानों में सीटों की उपलब्धता एवं मेरिट लिस्ट के अनुसार प्रवेश दिया जायेगा।
  • उम्मीदवार ध्यान रखें कि जब वे डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए जाएं तो अपने मूल यानि की ओरिजिनल प्रमाण पत्र साथ लेकर जाएं।

कॉउंसलिंग

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् की ओर से आवेदन प्रक्रिया समाप्त हो जाने के बाद उम्मीदवारों की योग्यता के अनुसार उन्हें शॉर्टलिस्ट किया जायेगा। शॉर्टलिस्ट किये गए उम्मीदवारों को कॉउंसलिंग लेटर जारी कर कॉउंसलिंग राउंड के लिए बुलाया जायेगा। उम्मीदवारों को जानकारी दे दें कि कॉउंसलिंग के लिए उन्हें रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूर्ण करनी अनिवार्य होती है। काउंसिलिंग के समय उम्मीदवारों को दिल्ली डीएलएड के समय आवेदन करते समय जो दस्तावेज मांगे गए थे उसके साथ प्रस्तुत होना होगा। जो भी उम्मीदवार मूल दस्तावेजों को काउंसिलिंग के समय प्रस्तुत नहीं कर पाएंगे वे उम्मीदवार डीएलएड प्रवेश परीक्षा से बाहर कर दिए जायेंगे। उम्मीदवारों को सारे दस्तावेज प्रवेश प्रक्रिया के समय ही जमा कराने होंगे।

आधिकारिक वेबसाइट : ubse.uk.gov.in

सभी राज्य का डीएलएड परीक्षा यहां से देखें

राज्य डीएलएड परीक्षा
उत्तर प्रदेश यहां से देखें
बिहार यहां से देखें
राजस्थान यहां से देखें
झारखण्ड यहां से देखें
छत्तीसगढ़ यहां से देखें
मध्य प्रदेश यहां से देखें
दिल्ली यहां से देखें
हरियाणा यहां से देखें
उत्तराखण्ड यहां से देखें
हिमाचल प्रदेश यहां से देखें

डीएलएड

1 टिप्पणी

अपने विचार बताएं।